Share:
आधार कार्ड से भारत सरकार के 9 अरब डॉलर बचे: नंदन नीलेकणी
आधार कार्ड से भारत सरकार के 9 अरब डॉलर बचे: नंदन नीलेकणी

नई दिल्ली: आजकल देश में हर चीज को आधार कार्ड से जोड़ा जा रहा है. अब सरकार द्वारा आधार कार्ड हर चीज के लिए धीरे-धीरे अनिवार्य किया जा रहा है. आधार कार्ड को लेकर आधार कार्ड के जनक नंदन नीलेकणी ने एक बड़ा बयान दिया है. आधार कार्ड के जनक का कहना है कि भारत सरकार की आधार कार्ड स्कीम ने लगभग 1 बिलियन लोगों को जोड़ा है जिससे सरकारी खजाने के 9 अरब डॉलर बचे हैं. 

नंदन नीलेकणी ने कहा कि इस योजना को यूपीए सरकार ने लॉन्च किया था, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका काफी जोरशोर से समर्थन किया है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आधार कार्ड के जनक ने यह बातें वर्ल्ड बैंक पैनल में डिजिटल इकोनॉमी पर चर्चा के दौरान कही है. आधार कार्ड के जनक के मुताबिक विकासशील देशों के लिए डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर बनाना बहुत ही सरल है. देश के 100 करोड़ लोगों के पास अब आधार कार्ड है. 

इसके साथ ही आगे नीलेकणी ने कहा कि आधार कार्ड में यूनिक नंबर होने की वजह से अब आप लोगों की पहचान कर सकते हो जिससे पैसा प्रत्यक्ष रूप से उनके खाते में जाता है. देश के करीब 50 करोड़ लोगों ने अपनी आईडी को बैंक खाते से जोड़ दिया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भारत सरकार करीब 12 बिलियन डॉलर सीधा बैंक खातों में भेज रही है जो कि दुनिया का सबसे बड़ा कैश ट्रांसफर सिस्टम है.

दिवाली से पहले किसानों को मिला 90 करोड़ 78 लाख रुपए का बोनस

चंडीगढ़ हाईप्रोफाइल छेड़छाड़ मामले में विकास और आशीष के ख़िलाफ़ आरोप तय

अमेरिका कर रहा है उत्तर कोरिया पर हमले की तैयारी!

राहुल गाँधी ने अब तक अमेठी में कोई भी विकास कार्य नहीं किया है: सीएम योगी

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -