छिपे खजाने के लिए मंदिर खोदने का काम करता था चोरों का गिरोह, इस तरह हुआ भंडाफोड़

शनिवार को आंध्र प्रदेश, चित्तूर जिले से चोरों के गिरोह का भंडाफोड़ हुआ। इस वारदात में पुलिस ने चोरों के एक गिरोह को गिरफ्तार किया जो छिपे खजाने के लिए मंदिर खोदने का काम करता था। यहां बता दें कि केवी पल्ले सब इंस्पेक्टर राममोहन के नेतृत्व में जिला पुलिस की टीम ने गिरोह के पास से कुछ उपकरण, आठ मोबाइल फोन और दो कार बरामद की है।

मदनपल्ली के पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) रवि मनोहर आचार्य ने एक बयान में बताया कि यह गिरोह प्रदेश के प्राचीन मंदिरों को निशाना बनाकर उन्हें छिपा खजाने के लिए खोदता था।  हाल ही में एक उदाहरण में, उन्होंने 25 अप्रैल को अडवीपल्ली परियोजना क्षेत्र के पास भगवान मल्लेश्वर के मंदिर पर हमला किया। डीएसपी ने कहा, उन्होंने बैकसाइड वॉल को नष्ट कर दिया, मंदिर में प्रवेश किया, मूर्तियों को विस्थापित किया और खजाने के ट्रोप्स की तलाश की।  उन्होंने आगे बताया कि गिरोह ने मंदिर से कांसे की घंटी चुराई, जिससे मंदिर के पुजारी ने अगली सुबह मंदिर की दुर्दशा देखी, केवी पल्ले पुलिस स्टेशन में शिकायत की।

डीएसपी ने कहा, पुजारी की उस शिकायत के आधार पर गिरोह पर एक नजर रखने के लिए दो टीमें बनाई गई थीं। उन्होंने आगे बताया कि केवी पल्ले मंडल के लक्ष्मीनारायण पल्ले क्रॉस पर कुछ संदिग्ध व्यक्तियों के बारे में पुलिस को सूचना मिलने के बाद सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया जबकि गिरोह के चार अन्य लोग भागने में कामयाब रहे।

दूसरी बार कोरोना की चपेट में आए तेलंगाना के परिवहन मंत्री पुर्ववाड़ा अजय कुमार

बंगाल चुनाव: शुरूआती रुझानों में TMC को झटका, नंदीग्राम से ममता पिछड़ी, शुभेंदु को बढ़त

केरल-तमिलनाडु: कड़ी सुरक्षा के बीच जारी है वोटों की गिनती

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -