मोदी और वायपेयी का रिश्ता, CM बनाने के ल‍िए शमशान से फोन कर बुलाया था

मोदी और वायपेयी का रिश्ता, CM बनाने के ल‍िए शमशान से फोन कर बुलाया था

नई दिल्ली। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के बीच के रिश्ते शुरू से ही बेहद अच्छे रहे है। जब भी मौका मिलता है तो दोनों एक दूसरे के प्रति अपना प्रेम दिखाने से नहीं चूकते। इन दोनों नेताओं के दोस्ताना रिश्तो के कई किस्से भी काफी मशहूर है। 

ऐसा ही एक किस्सा है मोदी के गुजरात के मुख्यमंत्री बनने का। इस किस्से का जिक्र एक बार खुद नरेंद्र मोदी ने अपने एक इंटरव्यू में किया था। उन्होंने कहा कि ये किस्सा उस दौर का है जब गुजरात में आने का जिम्मा अचानक मुझ पर आ गया था। मोदी ने बताया कि जब उन्हें मुख्यमंत्री बनने का दायित्व मिला था तब  अटल जी प्रधानमंत्री थे। एक दिन अटल जी ने उन्हें फ़ोन किया उस वक्त मोदी शमशान में थे। 

तब अटल जी ने मोदी से पूछा की शमशान में  क्या कर रहे हो और वापस कब तक लौटोगे। इसके बाद अटल जी ने कहा की वे मोदी को गुजरात का मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते है। और इस सिलसिले में उनसे मिलना चाहते है। आपको बता दें की उस वक्त मोदी  माधवराव सिंधिया के साथ हेलिकॉप्टर हादसे में मारे गये एक कैमरामैन के साथ अंतिम संस्कार में थे।

ख़बरें और भी 

पर्दे पर भी दिखाई देंगे अटल बिहारी वाजपेयी

त्रिपुरा के राज्‍यपाल ने अटल बिहारी के निधन से पहले ही दे दी श्रद्धांजलि, हंगामा होने पर मांगी माफी

अटल बिहारी वाजपेयी की तबियत और बिगड़ी, अस्पताल के बहार कड़ी सुरक्षा

अटलजी का दुखद निधन, क्या गैर-भाजपाई राज्यों में रहेगा शोक अवकाश ?

?