कांग्रेस के हाथ से मेघालय भी जायेगा !

कांग्रेस के हाथ से मेघालय भी जायेगा !

बीजेपी दो राज्यों में जीत के बाद मेघालय में भी सेंध लगाने की कवायद मे है और कांग्रेस को यहाँ से भी बाहर का रास्ता दिखाने की कोशिश में लग गई है. इसी बीच 19 सीटों पर जीत हासिल करने वाली नेशनल पीपल पार्टी ने सरकार बनाने का दावा किया है. एनपीपी के नेता कोनराड संगमा ने कहा कि हम सहयोगियों के साथ मिलकर सरकार बनाने जा रहे हैं. बीजेपी के सूत्रों के मुताबिक पार्टी मेघालय में सरकार बनाने को लेकर आश्वस्त है. अब सभी की निगाहें पूर्व सीएम दोनकुपर रॉय के घर चल रही यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी (यूडीपी) की बैठक पर टिकी हैं. इधर, बीजेपी के वरिष्ठ नेता किरण रिजिजू, केजे अल्फोंस और हेमंत विश्व शर्मा समेत बीजेपी मेघालय के सभी विधायक यूडीपी नेताओं से मिलने के लिए दोनकुपर के घर पहुंच गए हैं.

वहीं, कांग्रेस नेता मुकुल संगमा यूडीपी मुख्यालय पहुंचे हैं. मेघालय के पूर्व सीएम और यूडीपी नेता दोनकुपर रॉय ने भाजपा को समर्थन देने का संकेत दिया है. हालांकि, औपचारिक फैसले के लिए दोनकुपर और उनके विधायकों के बीच चल रही बैठक के खत्म होने का इंतजार है.मुकुल संगमा ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने शिलांग में राज्यपाल गंगा प्रसाद को अपना इस्तीफा सौंपा है. 

समीकरण को समझे तो - अगर यूडीपी बीजेपी को अपना समर्थन देती है तो भाजपा चार पार्टियों और एक निर्दलीय विधायक के साथ सरकार बना लेगी. ऐसे में उसके पास बहुमत से तीन ज्यादा 34 सीटें हो जाएंगी. बीजेपी के साथ इस गठबंधन की सरकार में यूडीपी के 6 विधायकों के अलावा एनपीपी के 19 विधायक, पीडीएफ के 4  विधायक, एचएसपीडीपी के 2 विधायक और एक निर्दलीय विधायक शामिल होंगे.

पीएम ने माना युवाओं से सीखने को मिलता

चुनावी जीत मोदीजी की सोच का नतीजा: योगी

मेघालय में सरकार बनाने के लिए मशक्कत जारी


 

?