मरने के बाद इस राजा पर खर्च हुए थे 600 करोड़ रु, एक साल बाद हुआ अंतिम संस्कार