कई करोड़ों की लागत में बनेगा 45000 चार्जिंग स्टेशन

इंडिया में CNG वाहनों की तरह ही इस वक़्त  इलेक्ट्रिक वाहनों का भी बहुत  जलवा देखने के लिए मिल रहा है। इसी के मद्देनजर इलेक्ट्रिक टू व्हीलर निर्माता कंपनियां बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप करने की कोशिश कर रही है। दमदार और स्पोर्टी EV टू-व्हीलर वाहनों के निर्माण के लिए चर्चित केएलबी कोमाकी की इलेक्ट्रिक व्हीकल डिविजन विश्वभर में मॉडर्न चार्जिंग पॉइंट्स को विकसित करने और इंडिया में EV इन्फ्रास्ट्रक्चर के इलाके में पैर जमाने की तैयारी में लगे हुए है। वहीं, जुलाई 2022 से शुरु इस प्रोजेक्ट में 18 माह के अंदर ही कुल 45 हज़ार चार्जिंग स्टेशन लगाने के लिए 25 करोड़ रुपये का इन्वेस्टमेंट भी किया जा चुका है। ऐसी सम्भावना है कि दिसंबर 2023 के अंत तक यह प्रोजेक्ट पूरा हो चुका है।

सभी जरूरतों को पूरा करने पर होगा ध्यान: EV मालिकों की सभी जरूरतों को पूरा करने वाला यह प्रोजेक्ट सबसे बड़ा P2P Network होगा और साथ ही स्मार्ट और यूजर फ्रेंडली फीचर्स से भरा हुआ होने वाला है। ऐसा komaki कंपनी दावा कर रही है। Komaki अपने Electric वाहनों को खरीदने वाले ग्राहकों को EV चार्जिंग पॉइंट्स के 2 फ्री ऑप्शन भी दिए जा रहे है। इसमें बड़ा चार्जिंग पॉइंट जो मल्टीपरपज चार्ज पॉइंट होने वाला है, जिसमें कार, बाइक और तिपहिया वाहनों को चार्ज करने की सुविधा देखने के लिए मिलने वाली है। वहीं, छोटा वाला चार्जिंग पॉइंट आपको इलेक्ट्रिक दोपहिया और तिपहिया वाहनों के लिए देखने को मिलने वाला है।

अच्छी बात तो यह है कि आप (उपभोक्ता) इस चार्जिंग पॉइंट को कहीं भी इंस्टॉल कर सकतें हैं जैसे-पेट्रोल पंप पर या EV चार्जिंग स्टेशन पर, अपने अपार्टमेंट के बाहर या कमर्शियल बिल्डिंग के पास। यदि कोई इन पोर्ट्स का इस्तेमाल करके अपने किसी भी इलेक्ट्रिक वाहन को चार्ज करता है तो पोर्ट इन्स्टॉल करने वाले खरीददार को जिसके लिए लाभ के रूप में एक छोटा मार्जिन भी दिया जाने वाला है। वहीं, अभी इस कॉन्सेप्ट पर टेस्टिंग जारी है। Komaki इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्जिंग नेटवर्क के विस्तार का लक्ष्य तय समय सीमा में पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध दिखाई दे रही है। 

ऐप पर उपलब्ध होगी जानकारी: अंकिता शर्मा कोमाकी इलेक्ट्रिक डिविजन सेल्स एंड मार्केटिंग की हेड हैं, इस बारें में उनका कहना है कि EV उपभोगकर्ता को अब अपने वाहनों की चार्जिंग में दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा क्योंकि Komaki के इस प्रोजेक्ट ने 3 स्टेप्स- स्कैन, पे और चार्ज- के सरल प्रोसेस के द्वारा इसे बहुत सरल बनाने का काम कर रहा है । वहीं, उपभोगकर्ता एजर्नी मीटर के माध्यम से अपने इलेक्ट्रिक वाहनों में होने वाली Power की खपत पर निगाह भी बनाए रख सकते हैं। यह यूनीक फीचर आपको हर चार्जिंग पैनल में देखने के लिए मिलने वाला है। काम की बात ये हो सकती है कि कोमाकी मोबाइल ऐप के द्वारा आप अपने नजदीकी चार्जिंग पॉइन्ट की जानकारी भी हासिल कर सकते है।

मेड-इन-इंडिया की इस कार ने विदेश में हासिल किया यह मुकाम

क्या आप भी है महिंद्रा थार के दीवाने तो आज जान लें ये बात

Royal Enfield की इस बाइक की बिक्री जान आपके उड़ जाएंगे होश

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -