OMG! न्यूयॉर्क में 5 वर्ष के बच्चे की मौत बनी रहस्य, जानें क्या है पूरी बात

न्यूयॉर्क: पिछले कई दिनों से लगातार बढ़ती जा रही कोरोना वायरस की समस्या से आज के समय में हर कोई परेशान है वहीं इस वायरस के बढ़ते प्रकोप और महामारी की चपेट में आने से आज न जाने ऐसे कितने लोग है जिनकी जाने जा चुकी है, इतना ही नहीं इस वायरस की चपेट में आने कर रोज लाखों की तादाद में लोग संक्रमित हो रहे है, वहीं कोरोना वायरस से दुनियाभर में मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता ही जा रहा है जिसके कारण आज पूरा मानवीय पहलू तबाही की छोर  पर आ खड़ा हुआ है. आज इस वायरस की चपेट में आने से 2 लाख 80 हजार से अधिक लोगों की जान जा चुकी है. और अब भी इस बात को खुलकर नहीं कहा जा सकता है कि इस वायरस से कब तक निजात मिल पाएगा और हालात ने कब सुधार होगा. कोरोना वायरस की वजह से दुर्लभ इंफ्लेमेट्री सिंड्रम से पीड़ित हुए पांच वर्ष के बालक की न्यूयॉर्क में मौत हो गई. यह चिंताजनक पहला मामला नहीं है, सात साल के एक बच्चे की भी इसी रहस्यमी बाल रोग से हुई मौत की जांच अभी चल ही रही है. इन लक्षणों को फिलहाल कोविड-19 संबंधित पीडियाट्रिक मल्टी-सिस्टम इंफ्लेमेट्री सिंड्रम नाम दिया गया है.

इन मामलों में कावासाकी रोग और टॉक्सिक शॉक सिंड्रम जैसे लक्षण नजर आ रहे हैं. इसकी वजह भी कोरोना वायरस को बताया गया है. अब तक ऐसे 73 मामले सामने आए हैं. न्यूयॉर्क सिटी के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 17 अप्रैल से 1 मई के बीच अस्पतालों में कावासाकी रोग और टॉक्सिक शॉक सिंड्रम से पीड़ित 15 बच्चे लाए गए. इनकी उम्र दो से 15 वर्ष थी. पांच में कोविड-19 रोग मिला. 8 बच्चों को ब्लड प्रेशर सपोर्ट व पांच को वेंटिलेटर पर रखा गया. पिछले हफ्ते सात वर्षीय बालक की मौत वालहाला के मारिया फेरेरी बाल चिकित्सालय में हुई थी. यहां के फिजिशियन इन चीफ माइकल ग्विट्ज के अनुसार बच्चे में न्यूरोलॉजिकल समस्याएं भी पैदा हो गई थीं. उन्हाेंने रहस्यमी इंफ्लेमेट्री सिंड्रम को मौत की वजह बताया और कहा कि अधिकतर बच्चों में संक्रमण होने पर भी लक्षण सामने नहीं आते, ऐसे में यह दुर्लभ, लेकिन घातक है.

घर में मिला था संक्रमण: न्यूयॉर्क की वेस्टचेस्टर काउंटी के स्वास्थ्य विभाग के डॉ. डायल हेवलेट के अनुसार जिन बच्चों में इंफ्लेमेट्री रोग के लक्षण मिले, उनके घर में पहले भी कोई न कोई कोरोना वायरस से संक्रमित मिला है. अस्पताल लाने से दो-चार दिन पहले तक बच्चों में कोई लक्षण नहीं थे.

जल्द अमेरिका में भी समाप्त हो सकता है लॉकडाउन

रूस में जारी है कोरोना की मार, 7वे दिन बढ़ा संक्रमितों का आंकड़ा

कोरोना की चपेट में आए डॉ. एंथोनी फॉसी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -