Share:
यूपी और बिहार में आकाशीय बिजली ने मचाया कोहराम, 315 लोगों की मौत
यूपी और बिहार में आकाशीय बिजली ने मचाया कोहराम, 315 लोगों की मौत

कोरोना महामारी के कारण पहले देश संकट में है. और इसी बीच उत्तर प्रदेश और बिहार में आकाशीय बिजली ने कहर बरपा रखा है. दोनों राज्यों मे शनिवार को बिजली गिरने के मामलो में कम से कम 49 लोगों की मौत हो गई जबकि कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं. यूपी और बिहार में 15 मई के बाद से अब तक आकाशीय बिजली गिरने से 315 लोगों की मौत हो चुकी है. आकाशीय बिजली से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाला राज्य बिहार है अब तक बिजली गिरने से सबसे ज्यादा लोगों की मौत बिहार में हुई है. राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के आंकड़ों के अनुसार, देशभर में पिछले डेढ़ महीने में कम से कम 253 लोगो कि बिजली गिरने से मौत हो गई है. और 49 घायल हुए हैं जिनमें 90 फीसदी लोग यूपी और बिहार से हैं. 

बता दे कि भारत में हर साल कम से कम 2,000 से 3,000 मौतें आकाशीय बिजली और मूसलाधार बारिश कि वजह से होती हैं. 2018 में पश्चिम यूपी, राजस्थान और हरियाणा में आकाशीय बिजली से कम से कम 100 लोगों की मौत हुई थी. बात यदि मध्यप्रदेश कि हो तो मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा 313 मौतें और महाराष्ट्र में 281 मौतें, ओडिशा 255 मौतें लगभग हर साल होती हैं. उत्तर प्रदेश और बिहार में बिजली गिरने से शनिवार को कम से कम 49 लोगों की मौत हुई. बिहार के सात जिलों में शनिवार को भारी बारिश और गरज के साथ बिजली गिरने से 25 लोगों की जान चली गई.

आपको बता दे, कि आकाशीय बिजली से मरने वालों में ज्यादातर किसान और मजदूर हैं जो खेतों में कृषि-संबंधित काम कर रहे थे. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को हुए जानमाल के नुकसान पर दुख व्यक्त किया है. उन्होंने मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है. सीएम ने घायल व्यक्तियों के मुफ्त इलाज का आदेश दिया है. वही वैज्ञानिकों का कहना है कि तेज बारिश के कारण अधिक किसान अपनी धान की फसल के लिए मानसून का सबसे अधिक इस्तेमाल कर रहे हैं. उन्होंने कहा, 'इस साल बिहार और पूर्वी यूपी में बिजली गिरने की घटनाओं और मौतों की संख्या लगातार बढ़ रही है, क्योंकि इस क्षेत्र में जून में ही तीव्र बारिश देखी जा रही है. पिछले वर्ष कि तुलना से इस वर्ष अधिक बारिश हो रही है.

COVAXIN को लेकर संशय में सरकार, क्या 15 अगस्त को लांच हो पाएगी वैक्सीन ?

कानपुर शूटआउट: यूपी सरकार पर शिवसेना का वार, कहा- कहीं नेपाल का 'दाउद' ना बन बैठे विकास दुबे

सावन सोमवार: शहडोल के 1200 साल पुराने शिव मंदिर में भक्तों का लगा तांता

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -