देश के 300 निजी इंजीनियरिंग कॉलेज बंद होंगे

Dec 02 2017 11:22 AM
देश के 300 निजी इंजीनियरिंग कॉलेज बंद होंगे

नई दिल्ली : यह खबर बेहद चौंकाने वाली है कि 300 से ज्यादा प्राइवेट इंजिनियरिंग कॉलेज इसलिए बंद होने जा रहे हैं, क्योंकि इन कॉलेजों में लगातार पिछले 5 सालों से 30 प्रतिशत प्रवेश भी नहीं हुए हैं. इन कॉलेजों को वर्ष 2018-19 के सत्र में प्रवेश नहीं लेने को कहा जाएगा. वहीँ कुछ कॉलेजों के लिए विकल्प रखने की भी बात सामने आई है.

उल्लेखनीय है कि मानव संसाधन मंत्रालय देश के करीब 500 निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों पर नजर रख रहा है , जहाँ तय सीटों पर प्रवेश नहीं हुए है. ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई) की वेब साईट कहती है कि भारत में 3 हजार के करीब प्राइवेट इंजिनियरिंग कॉलेज है, जिनमें 13.56 लाख छात्र पढ़ते हैं. इन कॉलेजों में से लगभग 800 कॉलेज में तय सीटों पर 50 प्रतिशत से भी कम प्रवेश हो रहे हैं.

आपको बता दें कि जिन 300 कॉलेजों को बंद करने की तैयारी है उनमें से 150 कॉलेजों में 20 प्रतिशत से भी कम सीटों पर प्रवेश हुआ है. एआईसीटीई के अधिकारी अनिल डी सहस्त्रबुद्धे के अनुसार इन कॉलेजों को बंद करना एक आसान उपाय है, लेकिन इन कॉलेजों में जो भारी-भरकम निवेश किया गया है बैंक लोन भी है. इसलिए जो कॉलेज बिल्कुल बॉर्डर लाइन पर हैं उन्हें बंद नहीं किया जाएगा लेकिन उन्हें किसी दूसरे विकल्प पर विचार किया जाएगा.

यह भी देखें

पत्राचार से मिली इंजीनियरिंग की डिग्री SC ने की निरस्त

मैकेनिकल ब्रांच वाले कुछ ऐसे लेते हैं लड़कियों की रैगिंग, उसके बाद...