सोशल मीडिया यूजर्स के लिए WHATSAPP ला रहा है एक और दमदार फीचर, जानिए...

WhatsApp ने लोगों को एक फेक मैसेज के बारे में चेताया है। जिसमे  बोला गया है कि लोगों की चैट प्राइवेट नहीं है और गवर्नमेंट उसे पढ़ सकती है। जिसमे कहा गया है कि अगर सरकार ने आपका मैसेज पढ़ा है तो आपको नया टिक या कलर देखने को मिला है। अभी WhatsApp चैट्स में दो-टिक नज़र आते हैं। मैसेज भेजने पर अगर एक टिक दिखता है तो इसका मतलब है मैसेज भेज दिया गया है, लेकिन दूसरे उपभोक्ता को प्राप्त नहीं हुआ। मैसेज प्राप्त होने पर 2 टिक दिखते हैं और मैसेज पढ़ने पर दो टिक नीले रंग में बदल जाते है।

वहीं WhatsApp पर ही वायरल फेक मैसेज में दावा कर रहे है कि इसके अंदर एक तीसरा टिक जोड़ा जाने वाला है। जिसमे यह भी कहा  गया है कि अगर गवर्नमेंट ने मैसेज को पढ़ा है तो तीसरा टिक दिखाई देगा। अगर सरकार कार्रवाई करना चाहती है तो एक ब्लू टिक और दो रेड टिक दिखाई देगा और तीसरे रेड टिक का मतलब है कि यूज़र को कोर्ट से समन भेजा जा रहा है।

बता दें कि WhatsApp और गवर्नमेंट के मध्य कानूनी विवाद चल रहा है। WhatsApp ने केंद्र सरकार के नए IT रूल्स के विरुद्ध मुकदमा दायर किया है। इसके उपरांत ही फेक मैसेज के द्वारा लोगों में भ्रम फैलाने का प्रयास किया जा रहा है। हालांकि वॉट्सऐप यूज़र्स को ऐसे किसी मैसेज पर भरोसा नहीं करना चाहिए, क्योंकि कंपनी ने इसे गलत बताया है और लोगों से इस तरह के मैसेज से दूर रहने को कहा है। उपभोक्ता के मध्य WhatsApp पर होने वाली चैट एंड-टू-एंड एनक्रिप्टेड होती है। जिसका मतलब है कि कोई भी इस चैट को नहीं पढ़ सकता। इस तक किसी गवर्नमेंट या थर्ड पार्टी की पहुंच नहीं है। WhatsApp ने लोगों से इस तरह के किसी मैसेज को फॉरवर्ड नहीं करने और इसकी रिपोर्ट करने को कहा है।

नोएडा में शुरू हुआ देश का पहला 24 घंटे चलने वाला कोरोना टीकाकरण केंद्र , ड्राइव इन सुविधा भी उपलब्ध

ये है भारत का अनोखा मंदिर, जहां मूर्ति या तस्वीर नहीं बल्कि बुलेट मोटरसाइकिल की होती है पूजा, जानिए क्यों?

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा गंगा-यमुना में शव फेंकने का मामला, कमिटी गठित करने की मांग

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -