15 साल का शातिर बाइक चोर, कर्नाटक पुलिस ने सुधरने के लिए मदरसे भेजा, 3 दिन में वहां से भी हुआ फरार
15 साल का शातिर बाइक चोर, कर्नाटक पुलिस ने सुधरने के लिए मदरसे भेजा, 3 दिन में वहां से भी हुआ फरार
Share:

बैंगलोर: कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में पुलिस ने एक नाबालिग मुजरिम को सुधरने के लिए 30 दिवसीय जमात में भेजा। लेकिन, वह नाबालिग यहाँ सुधरने की जगह 3 दिनों में ही जमात के पास से फरार हो गया। बताया जा रहा है कि यह नाबालिग आदतन अपराधी था और इसके 10 से ज्यादा आपराधिक मामलों में शामिल था।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कुछ दिन पहले बेंगलुरु पुलिस ने इस लड़के को हिरासत में लिया था। यह नाबालिग कई अपराध कर चुका था। हमेशा नई तकनीक का सहारा लेने वाली बेंगलुरु पुलिस ने इस बार उसे सुधारने के लिए जमात में भेजा था, ताकि वह वहाँ इस्लामी शिक्षा लेकर वो सुधर जाए और अपराध छोड़ दे। इस नाबालिग ने पिछले साल कर्नाटक के एक मंत्री का फोन तक छीन लिया था। मंत्री उस वक़्त बनासवाड़ी पुलिस स्टेशन क्षेत्र में सुबह की सैर कर रहे थे, उसी समय नाबालिग दौड़ता हुआ आकर उनसे फ़ोन छीनकर भाग गया। मंत्री की शिकायत पर इसे अरेस्ट किया गया। गिरफ्तारी के बाद उसका इतिहास देखकर पुलिस हैरान रह गई, वह कई अपराध कर चूका था।

नाबालिग अपराधी पूर्वी बेंगलुरु के बनासवाड़ी उपखंड का रहने वाला है। कुछ साल पहले उनके पिता की मौत के बाद उनकी मां ही कमाकर परिवार का पालन पोषण कर रही थी, अपराधी का एक छोटा भाई है। पुलिस ने बताया कि यह नाबालिग चोरी और डकैती के तीन-तीन मामलों को महज 10 दिनों के अंदर अंजाम दे चुका है। 15 वर्षीय इस नाबालिग ने यह सभी अपराध 2023 के अंत में  किए थे।

पुलिस ने बताया कि नाबालिग ताले तोड़कर गाड़ियाँ चुराने में माहिर था और वह आराम से वाहनों का ताला तोड़कर उन्हें लेकर भाग जाता था। वह अब तक 10 गाड़ियाँ इसी तरह चुरा चुका था, जो कि उसके पकड़े जाने के बाद जब्त कर ली गई हैं। इन सबके बाद पुलिस ने उसे अरेस्ट करके बाल सुधार गृह भेजा गया, लेकिन वो नहीं सुधरा और बाहर आकर फिर से अपराध करने लगा। इसके बाद पुलिस ने उसे फिर से पकड़ा, तो एक मदरसे में जमात के पास भेज दिया, ताकी इस्लाम की शिक्षा लेकर वो सुधर जाए।

हालाँकि, बेंगलुरु पुलिस का यह प्लान उलटा पड़ गया और अपराधी नाबालिग तीन दिनों के अंदर ही जमात की निगरानी में मदरसे से भाग निकला। वहीं, बेंगलुरु के डिप्टी पुलिस कमिश्नर ने बताया है कि नाबालिग पर जमात और मदरसे ने सकारात्मक प्रभाव डाला है, क्योंकि पिछले 25 दिनों से उसके द्वारा कोई चोरी किए जाने की खबर नहीं आई है। हालाँकि, उसके भागे जाने के बाद पुलिस ने उसे पकड़ने की कोशिश की या नहीं, इस बारे में उन्होंने कुछ नहीं बताया। 

पार हुई हैवानियत की हदें! चलती कार में लड़की के साथ गैंगरेप, आरोपी फरार

'माफ कर दो, मां के 850 रुपये खर्च हो गए', युवक ने खून से चिट्ठी लिखकर की खुदखुशी

दरगाह के पास से गुजर रही गायों को तेज़ाब डालकर झुलसाया, 5 नाबालिगों को पुलिस ने हिरासत में लिया

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -