पंडित जवाहर लाल नेहरू के टॉप 20 अनमोल विचार

1- बिना शांति के, सभी सपने टूट जाते हैं और राख में मिल जाते हैं।

2- जीवन ताश के पत्तों के खेल की तरह है। आपके हाथ में जो है वह नियति है, जिस तरह से आप खेलते हैं वह स्वतंत्र इच्छा है।

3- हम वास्तविकता में क्या हैं यह अधिक मायने रखता है इस बात से कि लोग हमारे बारे में क्या सोचते हैं।

4- आप तस्वीर के चेहरे दीवार की तरफ मोड़ के इतिहास का रुख नहीं बदल सकते।

5- जो व्यक्ति अधिकतर अपने ही गुणों का बखान करता रहता है वो अक्सर सबसे कम गुणी होता है।

6- सत्य हमेशा सत्य ही रहता हैं चाहे आप पसंद करें या ना करें।

7- जो पुस्तकें हमें सोचने के लिए विवश करती हैं, वे हमारी सबसे अच्छी सहायक हैं।

8- संकट और गतिरोध जब होते हैं तो कम से कम उनका एक फायदा होता है कि वे हमें सोचने पर मजबूर करते हैं।

9- शायद जीवन में डर से बुरा और खतरनाक कुछ भी नहीं है।

10- जो व्यक्ति सब कुछ पा चुका है वह हर एक चीज शांति और व्यवस्था के पक्ष में चाहता है।

11- जब तक मैं स्वयं में आश्वस्त हूँ कि किया गया काम सही काम है तब तक मुझे संतुष्टि रहती है।

12- लोगों की कला उनके दिमाग का सही दर्पण है।

13- पूर्ण रूप से आन्दोलनकारी रवैया किसी विषय के गहन विचार के लिए ठीक नहीं है।

14- बहुत अधिक सतर्क रहने की नीति सभी खतरों में सबसे बड़ा खतरा है।

15- जो व्यक्ति भागता है वह शांत बैठे व्यक्ति की तुलना में अधिक खतरे में पड़ जाता है।

16- संस्कृति मन और आत्मा का विस्तार है।

17- संकट के समय हर छोटी चीज मायने रखती है।

18- दुसरों के अनुभवों से लाभ उठाने वाला बुद्धिमान होता है।

19- तथ्य तथ्य हैं और आपके नापसंद करने से गायब नहीं हो जायेंगे।

20- असफलता तभी आती है जब हम अपने आदर्श, उद्देश्य, और सिद्धांत भूल जाते हैं।

AIIMS जोधपुर ने इन पदों पर जारी की बंपर भर्तियां, जानिए कितना है वेतन

सोशल मीडिया पर छाया मृणाल ठाकुर का खुमार, फैंस के साथ सेलेब्स ने भी बांधे तारीफों के पूल

इस दिन जारी किए जाएंगे UP TET के एडमिट कार्ड

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -