योग निद्रा - रोगों का अचूक उपाय

अक्सर ऐसा होता होगा कि काम के बोझ के चलते आप देर तक जागते हों और फिर सुबह समय पर उठना होता हो ऐसे में आप पर्याप्त नींद नहीं ले पाते हैं। इसके बाद आप थकान, चिड़चिड़ापन, अवसाद, उनींदापन आदि महसूस करते हैं कई बार आपको ऐसा लगता है कि कहीं से एक कड़क प्याली चाय मिल जाए। जी हां, जब नींद न लगे तब ऐसा ही कुछ होता है। आखिर नींद भी बड़े काम की होती है। क्या आप जानते हैं निद्रा जब योग से जुड़ जाती है तो यह एक चिकित्सा बन जाती है।

जी हां, इस चिकित्सक के प्रभाव से मन और शरीर दोनों ही स्वस्थ्य होते हैं। हालांकि इसे करने से पहले योग्य शिक्षक का मार्गदर्शन लेना जरूरी है। इस योग निद्रा के प्रभाव से उच्च रक्तचाप, मधुमेह, हृदय रोग, सिरदर्द, तनाव, दमे की बीमारियां, पेट के घाव, गर्दन दर्द, सइटिका, अनिद्रा आदि परेशानियों से निजात मिल जाती है। योग निद्रा करने के लिए एक आसन, चटाई बिछालें और उस पर पीठ के बल लेट जाऐं।

एकदम सीधे लेटकर अपने पैर करीब 1 फुट दूर करें और हाथों को जांघ या कमर की सीध में समीप रखें। हथेलियां उपर की ओर खुली हो शरीर से लगभग 1 इंच दूर हाथ हो। ऐसे में शरीर ढीला करें और लंबी श्वास लें और लंबी श्वास छोड़ें। ऐसा पांच बार करें। भगवान का ध्यान करें और हो सके तो अच्छे विचार आने दें, बुरे विचारों को त्यागें। कुछ न सोचें बस शांत लेटे रहें। अपना ध्यान शरीर के विभिन्न भागों पर ले जाऐं और फिर शांत होकर लेट जाऐं इस दौरान आंखें बंद रखें। ऐसे में आपको बहुत आराम मिलेगा। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -