शर्मनाक: योगी सरकार में सरेआम पिटाई महिला दरोगा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यूं तो प्रदेश में दुरुस्त पुलिस व्यवस्था का ढिंढोरा पीटते है लेकिन उनकी नाक के नीचे ही पुलिस वालों को पीटा जाता है और वो कुछ नहीं कर पाते. पिटाई भी एक महिला दरोगा की. जी हां, यह मामला है राजधानी लखनऊ से महज 77 किलोमीटर दूर रायबरेली सदर कोतवाली क्षेत्र का है. जानकारी के अनुसार यहां रायबरेली जिला अस्पताल में एक शव का पंचनामा करने गई सदर कोतवाली की एक महिला दारोगा की सरेआम पीट दी गई. महिला दरोगा दो पक्षों के बीच चल रही मारपीट का बीच-बचाव करने गई थी. इसी बीच किसी ने दरोगा पर हमला बोल दिया.

मामला गंभीर होते देखे किसी ने 100 डायल कर दिया. जिसके बाद फ़ोर्स के साथ पहुंची पुलिस ने मुख्य हमलावर को पकड़ लिया और थाने ले आई. यहां पहले तो उसकी जमकर पिटाई की उसके बाद उसे जेल भेज दिया है. शहर कोतवाली में तैनात दारोगा रेखा दुबे जिला अस्पताल में मृतकों का पंचनामा करने गईं थी. यहां कौशांबी जिले के पोखराज थाना क्षेत्र के नेवड़ियां गांव का रहने वाला संदीप, जगतपुर थाना क्षेत्र के शिवगंज निवासी अपने बहनोई शिवकेश के साथ मारपीट कर रहा था. इसी बीच मारपीट करते देखकर दारोगा बीच-बचाव करने पहुंची और उसे रोकने का प्रयास किया. इससे गुस्साए संदीप ने दारोगा के साथ अपशब्दों का प्रयोग करना शुरू कर दिया.

इस मामले में आरोपी संदीप का कहना है कि हमारी नवविवाहित बहन की मौत को लेकर मैं अपने बहनोई से झगड़ा कर रहा था. संदीप की बहन कविता (21) की शादी बीती 19 फरवरी को शिवकेश के साथ हुई थी. रविवार को कविता संदिग्ध हालात में अपनी ससुराल में जल गई. अस्पताल में डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया. परिवारीजन ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगा रहे थे. इसी को लेकर मारपीट हो गई थी जिसमे बीच में दरोगा भी आ गई.

 

आसाराम पीड़ित लड़की की नहीं हो रही शादी

उन्नाव रेप केस में नया मोड़

एएमयू में जिन्ना की फोटो क्यों- सतीश गौतम

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -