प्रसव के बाद इस तरह की मसाज से बनाएं अपने शरीर को स्वस्थ

प्रसव के बाद महिलाओ को अपने शरीर का काफी ध्यान रखना पड़ता है. प्रसव के बाद महिलाओं का शरीर बनता रहता है और ऐसे में कोई भी गलती आपको नुकसान पहुंचा सकती है. हर समय शरीर में दर्द का अनुभव रहता है जिससे महिला अंदर से कमजोर हो जाती है. जब एक माँ बच्चे को जन्म देती है तो उसके शरीर की मांसपेशिया ढीली और कमजोर हो जाती है. शरीर में पहले वाली ताकत और कमजोरी को दूर करने के लिए मसाज जरूरी हो जाती है. आज हम इसी के बारे में बताने जा रहे हैं कि किस तरह आप अपना ध्यान रख सकती हैं. 

* प्रसव बाद शरीर पूरी तरह से टूट व थक जाता है, इसके लिए मसाज बहुत जरूरी है. इससे शरीर को ताकत मिलती है और साथ ही थकान भी दूर होती है.

* प्रसव के समय पीठ, रीढ़ की हड्डी,कूल्हें,जांघों पर बहुत ज्यादा स्ट्रेस पड़ता है. बच्चे के जन्म के बाद बॉडी एकदम बेजान महसूस होने लगती है. मांसपेशियों में दोबारा स्फूर्ति लाने के लिए मालिश करवानी जरूरी हो जाती है.

* मालिश करने से बॉडी में रक्त और ऑक्सीजन का संचार पहले के मुकाबले बढ़ जाता है. जिससे शरीर में मौजूद विषैले तत्व बाहर निकलकर मांसपेशियां मजबूत होनी शुरू हो जाती हैं. 

* हाथ पैरो की मालिश करने से उन्हें ताकत मिलती है और साथ ही इससे खड़े भी हुआ जा सकता है. प्रसव के बाद एक महिला अच्छे से पैरो पर खड़ी नही हो पति है इससे उसे फायदा मिलता है.

* प्रसव के बाद शरीर के अंदर मांसपेशियों के साथ साथ कोशिकाओ पर भी प्रभाव पड़ता है. मालिश से कोशिकाओ को भी ताकत मिलती है और शरीर को फिट या तन्दुरुस्त रहने की ताकत भी मिलती है.

फ़ास्ट फ़ूड के जमाने में बच्चों को खिलाएं हेल्दी कॉर्न चाट

आपके दिल का ख्याल रखता है नारियल पानी, जानें अन्य फायदे

घर में करें हेपेटाइटिस बी का इलाज, अपनाएं ये तरीके

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -