Share:
'बार-बार खून से लथपथ हो रही महिला', वजह जानकर डॉक्टर्स भी हुए हैरान
'बार-बार खून से लथपथ हो रही महिला', वजह जानकर डॉक्टर्स भी हुए हैरान

महिलाओं के लिए प्रत्येक माह होने वाले पीरियड्स बेहद दर्द देते हैं। सामान्य रूप से महिलाओं को ये 2 से 7 दिन तक इससे गुजरना होता है। मगर एक महिला ऐसी भी है, जिसे लगभग 3 महीने तक निरंतर पीरियड्स के दर्द और समस्या से गुजरना पड़ा। अमेरिका के नॉर्थ कैरोलीना की रहने वाली एक महिला को 83 दिनों तक पीरियड्स हुए। मामला इतना बिगड़ गया कि उसे खून चढ़ाने की आवश्यकता पड़ गई। ये महिला पेशे से लेखिका है तथा उनका नाम रॉनी माय है। रॉनी ने बताया कि इन 83 दिनों के चलते उन्होंने किन कठिनाइयों का सामना किया।

आरम्भ में रॉनी की बातें सुनने के बाद डॉक्टर भी भरोसा नहीं कर पाए। उन्होंने इमरजेंसी रूम में उनसे पूछा, 'क्या आपको वाकई में उतनी ब्लीडिंग हुई है, जितनी आप कह रही हैं?' प्राप्त एक रिपोर्ट के मुताबिक, रॉनी ने बताया कि उन्हें कई वर्षों तक वक़्त पर पीरियड्स नहीं हुए थे, फिर वर्ष 2015 में पीसीओएस हो गया। उन्हें वैसे तो हमेशा से ही पीरियड्स के चलते बहुत अधिक ब्लीडिंग होती थी, मगर 2018 में एक दिन वह अपने डेस्क से उठीं तथा स्वयं को खून से लथपथ पाया।

पीसीओएस में हार्मोन इम्बैलेंस की वजह से गर्भाशय की परत मोटी हो जाती है, जिसकी वजह से लंबे वक़्त तक हैवी पीरियड्स होते हैं। रॉनी ने कहा कि वह जब अपने बाथरूम से डेस्क तक चलकर गईं तो उतने ही वक़्त में उनके पैरों पर खून बहने लगा। तत्पश्चात, वह दफ्तर से घर आईं तथा एक घंटे में टैम्पॉन का पूरा बॉक्स एवं पैड का पूरा पैकेट उपयोग कर लिया। वह दर्द कम करने के लिए हीटिंग पैड उपयोग करने लगीं मगर किसी भी चीज से ब्लीडिंग कम नहीं हो रही थी। तत्पश्चात, उनके पास चिकित्सालय जाने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा था। चिकित्सालय में तमाम उपाय करने के बाद रॉनी को राहत मिली। फिर चिकित्सक ने उनसे यही सवाल पूछा कि क्या वाकई में आपको इतनी ब्लीडिंग हो रही है? इसका उत्तर देते हुए उन्होंने कहा, 'एक अश्वेत महिला होने के नाते, चिकित्सकों को मेरी बात पर भरोसा नहीं होता है।' वह घर जाने से डर रही थीं इसलिए उन्हें दो सप्ताह तक चिकित्सालय में रुकना पड़ा। इस के चलते रॉनी को कई बार पैनिक अटैक आए। उनका हार्ट रेट और रक्तचाप भी बढ़ गया। उन्हें खून चढ़ाने की आवश्यकता भी पड़ी। उन्हें बाद में एक सर्जिकल प्रोसीजर तक से गुजरना पड़ा।

फर्जी खबर फैलाने वालों पर सरकार का शिकंजा, 6 YouTube चैनलों पर हुई बड़ी कार्यवाही

'सेना किसी भी स्थिति से निपटने को तैयार', आर्मी चीफ का आया बड़ा बयान

सरकारी कर्मचारियों को लग सकता है बड़ा झटका, जानिए क्या है मामला

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -