आखिर क्यों Zomato ने स्विगी से कहा सॉरी, जानिए मामला

महाराष्ट्र में कोविड के बढ़ते केस के उपरांत राज्य सरकार ने नाइट कर्फ्यू/ आंशिक लाॅकडाउन जैसे केस जारी किए हैं। महाराष्ट्र सरकार ने मंगलवार को ऐलान किया कि बुधवार से मुंबई में रात 8 बजे के बाद नाइट कर्फ्यू लगया जाने वाला है। इस बीच सिर्फ आवश्यक सेवाएं और वस्तुओं को लाने -ले जाने की छूट  रहने वाली है। रेस्तरां बंद किये जा चुके हैं, पूरे राज्य में फूड डिलीवरी की मंजूरी दी गई है। महाराष्ट्र सरकार का नाइट कर्फ्यू का यह फरमान शायद जोमैटो  को समझ नहीं आया। इसलिए रात 8 बजे से नाइट कर्फ्यू को लेकर गफलत में आए Zomato के को-फाउंडर और CEO दीपिंदर गोयल खर्चा पानी लेकर चढ़ गए अपने कट्टर प्रतिद्वंद्वी Swiggy पर। गोयल ने ट्वीट किया।

जानें क्या लिखते हैं CEO दीपिंदर गोयल: जंहा इस बात का पता चला है कि जोमैटो के CEO ने लिखा कि Zomato मुंबई में नाइट कर्फ्यू में रात्रि 8 बजे के उपरांत जरूरी खाने की चीजों की डिलीवरी के लिए तैयार है, लेकिन हम ऐसा नहीं कर रहे हैं क्योंकि हम कानून का पालन करेंगे। लेकिन मैं देख रहा हूं कि हमारा कॉम्पिटिटर रात 8 बजे के बाद भी डिलिवरी कर रहा है। मैं मुंबई पुलिस से अनुरोध करता हूं कि वो इस केस पर सफाई दें।

इस पर स्विगी ने तो कुछ नहीं कहा लेकिन मुंबई पुलिस ने तुरंत उत्तर दिया। मुंबई पुलिस ने लिखा कि कृपया गवर्नमेंट के नोटिफिकेशन को पढ़ लें, होम डिलिवरी की इजाजत दी गई है, लेकिन कोई समयसीमा तय नहीं है। जिसके उपरांत जोमैटो को अपनी गलती का एहसास हुआ और माफी मांगी।

सोशल मीडिया पर जमकर हो रही किरकिरी: जिसके उपरांत से ही ये केस ट्विटर पर चर्चा का विषय बन गया। Zomato की जबरदस्त किरकरी हो रही है। किसी ने लिखा इनकी लीगल टीम को नौकरी से निकाल दो। किसी ने बोला कि Zomato किसी स्कूल के छोटे बच्चे की तरह Swiggy की शिकायत कर रहा है, जैसा कि प्राइमरी स्कूलों में बच्चे करते हैं।

 

 

कोरोना की दहशत, गृह मंत्रालय के कर्मचारियों को जारी हुआ वर्क फ्रॉम होम का आदेश

देश में लगातार दूसरे दिन 2 लाख से अधिक कोरोना केस, 1185 की मौत

कोरोना की चपेट में आए कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला, ट्वीट में कही ये बात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -