'हम सत्ता में आने के करीब..', कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद का बयान, इन्ही की भतीजी ने किया था 'वोट जिहाद' का ऐलान
'हम सत्ता में आने के करीब..', कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद का बयान, इन्ही की भतीजी ने किया था 'वोट जिहाद' का ऐलान
Share:

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण तक भाजपा के 300 से अधिक सीटें जीतने के केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के हालिया दावे पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने कहा कि, "उन्हें क्या कहना चाहिए? अगर वह 300 सीटों का दावा नहीं करते हैं, तो उन्हें क्या कहना चाहिए? वह यह नहीं कह सकते कि वे केवल 200 तक ही पहुंचे हैं, है ना? उन्हें अपना रुख बनाए रखने की जरूरत है।" खुर्शीद ने विपक्ष के संदेह को उजागर किया और कहा, "अगर उन्हें (विपक्ष को) अगले चरण में 10-20 सीटें मिल रही हैं, तो शायद उन्हें वो भी नहीं मिलेंगी। इसलिए, उन्हें जो कहना है वही कहेंगे।"

सलमान खुर्शीद ने पहले के दावों में बदलाव की ओर भी इशारा किया, "अब, वे 400 सीटों का भी दावा नहीं कर रहे हैं, भले ही प्रधान मंत्री ने 400 पार करने का उल्लेख किया था।" खुर्शीद ने चुनाव नतीजों की अनिश्चितता पर जोर देते हुए कहा कि , "चुनाव कौन जीतेगा, इसका फैसला 4 तारीख को होगा। तो चलिए थोड़ा इंतजार करते हैं. हम यह भी कह सकते हैं कि हमने निश्चित संख्या में सीटें जीती, लेकिन यह निश्चित नहीं है कि यह हमारे पास आएंगी।  हालाँकि, हम जो समझते हैं, उसके अनुसार यह सीटों की वह संख्या है जिसे हम जीत सकते हैं और हम इसके अनुसार आगे की योजना बना सकते हैं। इस समझ के आधार पर हम अपनी योजना के साथ आगे बढ़ सकते हैं।"

गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को बिहार के काराकाट में एक रैली के दौरान अपना अनुमान व्यक्त करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा ने मौजूदा चुनावों के पांच चरणों में 310 सीटों का आंकड़ा पार कर लिया है और बाकी दो चरणों में 400 सीटों से अधिक का लक्ष्य है।  उन्होंने कहा था कि "लोकसभा चुनाव के छह चरण पूरे हो गए। मेरे पास पांच चरणों के चुनाव की रिपोर्ट है। केवल पांच चरणों के चुनाव में, पीएम मोदी 310 सीटें जीत चुके हैं और सरकार बनाने जा रहे हैं। छठा और सातवां चरण 400 सीटों को पार करने के लिए है।''

इसको लेकर सलमान खुर्शीद ने मौजूदा लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी के लिए मतदाताओं और पार्टी कार्यकर्ताओं से सकारात्मक प्रतिक्रिया पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि, "आप मुझे चुनावों के दौरान अक्सर दिए जाने वाले अतिशयोक्तिपूर्ण बयानों में शामिल होने और सीटों की संख्या के बारे में अटकलें लगाने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं। हम हर जगह जाते हैं और सुनते हैं कि लोग क्या कह रहे हैं, कार्यकर्ताओं से सुनते हैं, और उनकी शारीरिक भाषा का अवलोकन करते हैं।' खुर्शीद ने कहा, ''हमारे नेता, हम उनका बढ़ता आत्मविश्वास देख रहे हैं। हम लोगों के बढ़ते समर्थन और लगाव का अंदाजा लगा सकते हैं और उसके आधार पर अनुमान लगा सकते हैं।''

कांग्रेस सरकारों में केंद्रीय मंत्री रह चुके खुर्शीद ने कहा कि, "मेरा मानना है कि हमने यह चुनाव अच्छे से लड़ा है, पिछले दो चुनावों (लोकसभा) की तुलना में हमने यह चुनाव बहुत अच्छे से लड़ा है। हमें जितनी सीटों की जरूरत है, हम वहां तक पहुंच पाएंगे या नहीं, यह 4 जून को पता चलेगा। लेकिन इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह एक कांटे की लड़ाई रही है।"  खुर्शीद ने गरीबी, बढ़ती बेरोजगारी, किसानों के मुद्दों और बार-बार परीक्षा के पेपर लीक पर राहुल गांधी के फोकस का हवाला देते हुए कांग्रेस के घोषणापत्र में संबोधित प्रमुख मुद्दों पर प्रकाश डाला।

उन्होंने कहा कि "कई विषयों को बड़ी सटीकता से संबोधित किया गया है, जिसे लोगों ने स्वीकार किया है। लोगों ने हमारी गारंटी को स्वीकार किया है। वे पिछले 10 वर्षों के अनुभवों से बहुत परेशान हैं। उनका मानना है कि ये सभी मुद्दे पिछले 10 वर्षों में बढ़े हैं और वहां अब बदलाव होना चाहिए।'' उन्होंने नतीजे की अनिश्चितता को स्वीकार किया लेकिन पार्टी की स्थिति पर भरोसा जताया। उन्होंने कहा कि, "क्या हम जितना चाहें उतना बदलाव की संभावना है, जिसके जरिए हम सरकार बना सकें?, मेरा मानना है कि गहन विचार के बाद ही इस पर कुछ कहा जा सकता है। अभी एक चरण बाकी है, पहले इसे पूरा कर लें, फिर हम कुछ कह सकते हैं। फिलहाल पार्टी का उत्साह, कार्यकर्ताओं का समर्पण देखकर यह विश्वास हो गया है कि अब हम सत्ता में आने के करीब हैं और एक अच्छी सरकार बनाएंगे।''

 

बता दें कि, सलमान खुर्शीद हाल ही में उस समय विवादों में घिर गए थे, जब उनकी भतीजी मारिया आलम उमर ने चुनाव प्रचार के दौरान मुस्लिमों से 'वोट जिहाद' करने की अपील की थी। उस समय सलमान खुर्शीद मंच पर ही मौजूद थे, लेकिन कुछ नहीं बोले। उनकी भतीजी ने मजहब के आधार पर मुस्लिमों से एक तरफा भाजपा के खिलाफ वोट करने की अपील की थी। जिसके कारण कांग्रेस और सलमान खुर्शीद की  काफी किरकिरी हुई थी। क्योंकि, अक्सर मुस्लिम धर्मगुरु कहते हैं कि जिहाद अपनी खुद की बुराइयों से लड़ना है, वहीं, आतंकी कहते हैं कि जिहाद का मतलब अल्लाह की राह में पूरी दुनिया को इस्लामिक बनाने के लिए गैर-मुस्लिमों से लड़ना है। ऐसे में वोट जिहाद के कई मायने निकाले गए है ?

MP में हुई दलित युवती की मौत के बाद दिग्विजय सिंह ने की ये मांग

अंतिम संस्कार के लिए नहीं थे पैसे तो शख्स ने लिव-इन पार्टनर की लाश के साथ किया कुछ ऐसा, जानकर उड़ जाएंगे होश

MP के इस जिले में प्रशासन का बड़ा एक्शन, गिरफ्तार हुए 11 प्राइवेट स्कूल संचालक

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -