वास्तु के हिसाब से घर नही बनाया तो टांगनी पड़ेगी "भेड़ के बच्चो वाली तस्वीर"

वास्तु के हिसाब से घर नही बनाया तो टांगनी पड़ेगी
Share:

आजकल जगह कम होने की वजह से वास्तुसम्मत घर बनवा पाना संभव नहीं होता। छोटे आकार के प्लॉट में भी आप कुछ चीजों को ध्यान में रखकर सकारात्मक ऊर्जा बढ़ा सकते हैं। जानते हैं कुछ वास्तुसम्मत ऐसे उपाय, जिन्हें आजमाकर आप सकारात्मक ऊर्जा पा सकते हैं। मुख्य दरवाजा इस तरह से रखें कि वहा सबसे अधिक रोशनी आती हो। रात में भी मुख्य दरवाजे पर अंधेरा न होने दें। मुख्य दरवाजे की सीध में घर के अन्य दरवाजे न हो। साथ ही लिफ्ट का दरवाजा भी मुख्य दरवाजे की ओर नहीं खुलता हो।

कमरे यदि एक सीध में बनाए गए हैं तो तीन से अधिक कमरों के दरवाजे एक के बाद एक नहीं होने चाहिए। इसके बाद वाले कमरे में दरवाजे की पोजिशन चेंज कर लें। ड्रॉइंग रूम में यदि संभव हो तो एक छड़ चुम्बक रखें, जिसे नॉर्थ-साउथ दिशा के अनुसार बैलेंस रखें। यदि इसे लटकाना संभव हो तो और भी अच्छा है। कमरों की दीवारों का रंग लाइट होना चाहिए। वाइट, यलो और स्काई ब्ल्यू के शेड इस मामले में सबसे अच्छे साबित होंगे।

ये पेंटिंग लगाएं लिविंग रूम में : सूर्योदय, पानी या पहाड़ों के प्राकृतिक दृश्य जो कि आशावादिता को बढाते हैं। इस तरह की पेंटिंग लगाएं। निर्मल और मुस्कुराते हुए चेहरे के साथ लोगों के चित्र जो कि सकारात्मक भावनाओं को प्रोत्साहित करते हैं। झरने से बहता पानी अच्छे भाग्य का प्रतीक है। इससे जुड़ा कुछ घर में रखें। ज्यामितीय आकारों पर आधारित चित्र विनाशकारी भावनाओं को बढ़ाते हैं इन्हें खिड़की की तरफ रखें। जंगली और खतरनाक जानवरों के चित्र बेकार स्वास्थ्य के प्रतीक हैं इसलिए इस प्रकार की पेंटिंग्स को न लगाएं। फेंगशुई के अनुसार भेड़ के बच्चे अच्छे भाग्य का प्रतीक माने जाते हैं। तैरती हुई मछली दीर्घायु की प्रतीक है। इससे जुड़ी पेंटिंग घर में लगाएं।

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -