जल संक्रमण से बचने के उपाय

जल संक्रमण से बचने के उपाय

जल संक्रमण प्रोटोजोआ, बैक्टीरिया और वायरस के कारण होता है और यह पाचन तंत्र की दीवारों के माध्यम से संचार प्रणाली के ऊतकों पर आक्रमण करते हैं. इसके कारण आपके पाचन तंत्र, मूत्राशय और मूत्र मार्ग या सभी में समस्याएं पैदा कर सकता है. वैसे तो संक्रमण के इलाज के लिए कई प्रकार की एंटीबायोटिक दवाएं उपलब्ध हैं, लेकिन आप इन दवाओं का सेवन नहीं करना चाहते हैं, तो यहां दिये प्राकृतिक उपायों को आजमा सकते हैं. 

1-क्रेनबेरी जूस किडनी से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकलवाने का सबसे अच्छा विकल्प है. दिन में दो बार इसका एक गिलास पियें. इसके अलावा आप ब्लूबेरी या अनार के जूस को भी ले सकते हैं. एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण यह फल शरीर को प्राकृतिक रूप से संक्रमण से मुक्त करने में मदद करते हैं. 

2-सिरके में मौजूद पीएच स्तर शरीर की बाहरी तत्वों से रक्षा करता है. कुछ मात्रा में सेब साइडर सिरका लेने से शरीर समस्या पैदा करने वाले रोगजनकों के खिलाफ कार्रवाई करने में मजबूर करता है. 

3-अच्छे स्वास्थ्य को बनाये रखने के लिए पर्याप्त नींद बहुत जरूरी होती है, साथ ही यह रोगी को अधिक दर्द सहने योग्य बनाती है. ऐसा इसलिए क्योंकि पर्याप्त आराम के बाद शरीर किसी भी समस्या से बेहतर तरीके से लड़ सकता है. यदि आप रात को पर्याप्त सात आठ घंटे की नींद लेते हैं तो किसी भी समस्या का बेहतर सामना कर सकते हैं.