लेना चाहते हैं निःशुल्क तीर्थ यात्रा का लाभ, तो 28 जुलाई से पहले करें ऑनलाइन आवेदन

Jul 12 2019 05:40 PM
लेना चाहते हैं निःशुल्क तीर्थ यात्रा का लाभ, तो 28 जुलाई से पहले करें ऑनलाइन आवेदन

जयपुर: राजस्थान का देवस्थान विभाग नि:शुल्क वरिष्ठ नागरिक तीर्थयोजना के तहत बुजुर्गों को हवाईयात्रा के जुमले में फंसाकर यात्रा पूरी नहीं करा सकी. ऐसे में इस वर्ष यात्रा पूरी करवाना विभाग के लिए चुनौती वाला होगा. वित्तिय वर्ष 2019-20 में पांच हजार बुजर्गों को रेल और पांच हजार अन्य को हवाई मार्ग से तीर्थयात्रा पर पहुंचाया जाएगा. 

आपको बता दें कि तत्कालीन वसुंधरा सरकार ने वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना में वृद्ध लोगों को हवाईजहाज का सपना दिखाकर रेल से तीर्थयात्रा करा दी थी. वित्तीय वर्ष 2018-19 में घोषणा के अनुसार 7 हजार 500 यात्री हवाई और 3 हजार 500 यात्री विभाग को रेल से ले जाने थे. इनमें से केवल 3 हजार 293 यात्रियों को ही विमान से ही यात्रा करवाई गई. जबकि ट्रेन से 3 हजार 500 की जगह 4 हजार 19 यात्रियों को तीर्थयात्रा पर भेजा गया.

वर्तमान गहलोत सरकार ने बुजुर्गों को लुभाने के लिए कई नए तीर्थस्थल का चयन किया है. ऐसे में वृद्धजन पहली बार विदेश यात्रा पर भी जा सकेंगे. पशपुतिनाथ समेत अन्य तीर्थ इस बार नए चुने गए हैं. पहले जहां हवाई यात्रा में 6 सर्किट शामिल थे. उसमे इजाफा कर 9 कर दिए गए है. वहीं रेल यात्रा में भी 2 नए सर्किट जोड़े गए हैं. इनमें गोवर्धन, नंदगांव, बरसाना, मथुरा, वृंदावन सर्किट, दिल्ली निजामुद्दीन दरगाह और फतेहपुर सीकरी, आगरा शेख सलीम चिश्ती की दरगाह को भी जगह दी गई है. इसके अलावा पहली बार विदेश यात्रा पर श्रद्धालुओं को नेपाल स्थित काठमांडू, पशुपतिनाथ की हवाई यात्रा पर लें जाया जाएगा. इस यात्रा के लिए आवेदन शुरू हो चुके है. 

बीच सड़क पर आराम फर्मा रहे थे शेर, गाड़ियों का लगा जाम और...

CCTV कैमरे में कैद हुआ BSF के ASI का जुर्म, दिल्ली एयरपोर्ट से हुआ गिरफ्तार

वर्ल्ड कप: भारत में ही मना टीम इंडिया की हार का जश्न, लगे राष्ट्र विरोधी नारे