अब 5 सेकंड मे पता लगाए, ट्विटर पर भेजे जाने वाले वायरस का

अगर आप भी ट्वीटर यूजर है, तो हो जाइए सावधान। क्योकि अब ट्विटर पर भेजे जाने वाले ट्वीट भी सुरक्षित नहीं है। ऑनलाइन हैकर्स अब ट्विट मे वायरस छुपाकर भेजने लगे है। हैकर्स द्वारा वायरस का लिंक ट्विट पर भेजे जाने वाले शॉर्ट यूआरएल मे छुपा दिये जाते है और जब आप इन शॉर्ट यूआरएल पर क्लिक करते है, तो ये वायरस आपके सिस्टम मे घुस जाता है। ये वायरस इतना खतरनाक है की आपके सिस्टम को ये कब हैक कर लेगा आपको पता भी नहीं चलेगा । ये वायरस न केवल आपकी निजी सुचनाएं चुराते है, बल्कि आपको आर्थिक नुकसान भी पंहुचा सकते है।

ट्विटर पर ट्विट करने के लिए शब्दो की संख्या सीमित होने के कारण यूजर द्वारा शॉर्ट यूआरएल बनाए जाते है। ऐसे मे हैकर्स इसका फायदा उठा रहे है। हैकर्स द्वारा डाले जाने वाले वायरस के लिए ‘कार्डिफ यूनिवर्सिटी’ के कंप्यूटर साइंटिस्ट ने एक ऐसा सिस्टम बनाया है, जो महज 5 सेकंड ट्विट के शॉर्ट यूआरएल मे छुपे वायरस का पता लगा लेता है। इस सिस्टम से आप अपना ट्विटर अकॉउंट को सुरक्षित रख सकते है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

मुख्य समाचार

- Sponsored Advert -