Share:
दिल्ली में वसुंधरा राजे, उधर बाबा बालकनाथ ने छोड़ा सांसद पद, राजस्थान की सीएम पोस्ट को लेकर बढ़ा सस्पेंस
दिल्ली में वसुंधरा राजे, उधर बाबा बालकनाथ ने छोड़ा सांसद पद, राजस्थान की सीएम पोस्ट को लेकर बढ़ा सस्पेंस

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद और राजस्थान के अलवर से सांसद बाबा बालकनाथ ने आज लोकसभा ओम बिरला को अपना इस्तीफा सौंपकर अपनी लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। हाल ही में उन्होंने अलवर के तिजारा से विधानसभा चुनाव लड़ा था। यह घटनाक्रम ऐसे समय सामने आया है जब राजस्थान के मुख्यमंत्री को लेकर अटकलें जारी हैं। उनके इस्तीफे के बाद उनके राजस्थान का मुख्यमंत्री बनने की अटकलों ने जोर पकड़ लिया है। बता दें कि, हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में जीत हासिल करने के बाद 6 दिसंबर को कुल दस सांसदों ने इस्तीफा दे दिया। सूत्रों का कहना है कि सांसद पद से इस्तीफा देने का फैसला पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद लिया गया है। 

वहीं, मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर से विधायक का चुनाव जीतने वाले बीजेपी नेता प्रल्हाद सिंह पटेल ने मीडिया को बताया, 'मैंने सांसद पद से इस्तीफा दे दिया है और जल्द ही कैबिनेट मंत्री पद से भी इस्तीफा दे दूंगा।' पूर्व कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, भारत के खाद्य प्रसंस्करण उद्योग राज्य मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल, लोकसभा सांसद राकेश सिंह, उदय प्रताप और रीति पाठक ऐसे सांसद हैं जिन्होंने मध्य प्रदेश से जीतने के बाद सांसद पद से इस्तीफा दे दिया है। छत्तीसगढ़ में जीत हासिल करने के बाद लोकसभा सांसद अरुण साव और गोमती साय ने इस्तीफा दे दिया। राजस्थान में जीत हासिल करने के बाद लोकसभा सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़, दीया कुमारी और राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीना ने भी इस्तीफा दे दिया है।

इस दौरान, पूर्व सीएम और कद्दावर नेता वसुंधरा राजे बुधवार शाम को राष्ट्रीय राजधानी पहुंचीं। राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने के बाद हवाई अड्डे पर पत्रकारों से बात करते हुए, झालरापाटन विधानसभा क्षेत्र से विधानसभा में नया कार्यकाल हासिल करने वाली राजे ने कहा, "मैं अपनी बहू से मिलने आई हूं।" राज्य की दो बार मुख्यमंत्री रहीं वसुन्धरा राजे; दीया कुमारी, जो विद्याधर नगर से विधायक चुनी गई हैं; महत बालक नाथ, जो तिजारा निर्वाचन क्षेत्र से जीते; और झोटवाड़ा निर्वाचन क्षेत्र से जीते राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को इस पद के लिए शीर्ष दावेदारों में से एक माना जाता है। विधानसभा चुनावों में बीजेपी ने हिंदी पट्टी राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में जीत हासिल की है।

दक्षिण भारत में नहीं टला खतरा ! चक्रवात के बाद केरल-तमिलनाडु में भारी बारिश का अलर्ट जारी

PFI नेताओं की संपत्ति जब्त करने में इतनी देर क्यों ? केरल सरकार के सुस्त रवैये पर हाई कोर्ट ने जताई नाराज़गी

'अब आयात नहीं, निर्यात कर रहा भारत, घर में बन रही कई वस्तुएं.', कांग्रेस को IT मंत्री अश्विनी वैष्णव ने आंकड़ों के साथ दिया जवाब

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -