पिता की विरासत पर बेटी काबिज

Dec 02 2017 09:57 AM
पिता की विरासत पर बेटी काबिज

लखनऊ। उत्तरप्रदेश में संपन्न हुए निगरीय निकाय चुनाव में इस बार एक रिकाॅर्ड बन गया है। दरअसल राज्य की राजधानी लखनऊ शहर में हुए निकाय चुनाव के दौरान जो , परिणाम सामने आए हैं, उसमें वार्ड 34 में सबसे कम उम्र की निर्दलीय प्रत्याशी शादिया रफीक ने रिकाॅर्ड जीत दर्ज की। शादिया केवल 23 वर्ष की हैं। उन्होंने, भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी अर्चना द्विवेदी को 535 मतों के अंतर से पराजित किया।

शादिया रफीक एमिटी विश्वविद्यालय से मास कम्युनिकेशन के पाठ्यक्रम में अध्ययनरत हैं। गौरतलब है कि, उनके पिता रफीक अहमद वर्ष 1989 में तिलकनगर से पार्षद चुने गए थे। इसके बाद, यह सीट महिला वर्ग के लिए, आरक्षित हो गई। फिर उन्होंन,इस सीट पर चुनाव नहीं लड़ां मगर वर्ष 2012 में उनके पुत्र आदिल अहमद ने निर्वाचन लड़ा था। शादिया अब वार्ड के लिए, कार्य करना चाहती  है, वह पेयजल समस्या को दूर करना चाहती है।

शादिया ने कहा कि, वार्ड में सीवर भी क्षेत्र की बड़ी समस्या है,वह इसके समाधान का प्रयास करेंगी,बता दें कि, यूपी निकाय चुनाव में मेयर पद के लिए, 16 सीटों में से भाजपा ने 14 सीटों पर कब्जा किया,वहीं बसपा दो सीटें जीतने में कामयाब रहीं। नगरीय निकाय चुनाव के ये परिणाम बेहद अलग हैं। राज्य में सत्ताधारी भाजपा को कई वार्डों में हार का सामना करना पड़ा है। 

वंदे मातरम गाया तो नहीं मिला एडमिशन

क्या कहते है उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव के एग्जिट पोल

चुनाव ड्युटी में पी रहे थे शराब, अधिकारी पहुंचे तो हुई कार्रवाई

अमनमणि त्रिपाठी के गुर्गों पर लगे मारपीट के आरोप