भारत-पाकिस्तान के संघर्षविराम के निर्णय का अमेरिका ने किया स्वागत, कही ये बात
भारत-पाकिस्तान के संघर्षविराम के निर्णय का अमेरिका ने किया स्वागत, कही ये बात
Share:

न्यूयॉर्क: अमेरिका ने नियंत्रण रेखा और अन्य इलाकों में संघर्षविराम के सभी समझौतों का कठोरता से पालन करने के भारत और पाकिस्तान के संयुक्त बयान का स्वागत किया तथा इसे दक्षिण एशिया में शांति और स्थिरता की दिशा में एक सकारात्मक कदम बताया है। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने गुरुवार को अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बाइडन प्रशासन पाकिस्तान समेत क्षेत्र के नेताओं और अफसरों के साथ संपर्क में है।

साकी ने कहा, ‘‘अमेरिका, भारत एवं पाकिस्तान के संयुक्त बयान का स्वागत करता है कि दोनों देश नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम का कठोरता से पालन करने पर सहमत हुए हैं तथा यह 25 फरवरी से प्रभावी हो गया है।'' भारत तथा पाकिस्तान ने संयुक्त बयान जारी कर जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा एवं अन्य इलाकों में संघर्षविराम के सभी समझौतों का कठोरता से पालन करने पर सहमति व्यक्त की है। वही इस बारे में पूछे जाने पर प्रेस सचिव ने बताया, "यह दक्षिण एशिया में शांति और स्थिरता की दिशा में एक सकारात्मक कदम है, जिसमें हमारे साझा हित जुड़े हैं। हम दोनों देशों को इस प्रगति को बनाये रखने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।''

वही यह पूछे जाने पर कि क्या पाकिस्तान आतंकवाद के विरुद्ध विवाद में पर्याप्त कदम उठा रहा है, इस पर उन्होंने कहा, "उस आकलन के बारे में मैं आपको विदेश मंत्रालय या खुफिया विभाग की तरफ इशारा करूंगी।'' विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने एक अलग संवाददाता सम्मेलन में बताया कि प्रशासन ने एलओसी पर तनाव कम करने के लिए दोनों पक्षों से 2003 में हुए संघर्ष विराम समझौते का पालन करने की अपील की है। उन्होंने कहा, "हम नियंत्रण रेखा के पार घुसपैठ करने वाले आतंकवादियों की निंदा करते हैं।''

पाकिस्तान, भारत की सेनाएं युद्धविराम पर सभी समझौतों के सख्त पालन के लिए हुआ सहमत

भारत ने कई देशों को 'मुफ्त' भेजी कोरोना वैक्सीन, हिंदुस्तान की 'दरियादिली' का कायल हुआ WHO

टेस्ट चैंपियनशिप में No-1 बना भारत, मोटेरा हारने के बाद इंग्लैंड की उम्मीदें ख़त्म

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -