कूड़ा समझकर बाहर फेका , करोडो में निकली उसकी कीमत .................

कूड़ा समझकर बाहर फेका , करोडो में निकली उसकी कीमत .................

अक्सर साफ़ सफाई में चीज़े निकल ही जाती है दिवाली आने में बहुत कम दिन बचे हुए हैं, ऐसे में घर पर सफाई अभियान शुरू हो चुका है। सफाई के दौरान कभी-कभी ऐसा होता है कि घर से कचरा निकालने के चक्कर में हम काम की चीज भी बाहर फेंक देते हैं, जब हमें उस सामान की जरुरत पड़ती है, तो हमें पता चलता है कि उस सामान की कीमत कितनी थी। कचरा समझकर करोड़ों के एक सामान को फेंकने का एक मामला सामने आया है। दरअसल, नाइजीरिया के एक परिवार के घर पर एक पेंटिंग लगी हुई थी। परिवार को इस पेंटिंग के महत्वल के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। फिर एक दिन परिवार के सदस्योंप ने पेंटिंग पर बने पेंटर के दस्त‍खत को गूगल किया और उनकी किस्म त बदल गई। जिस पेंटिंग को वह आम मानकर चल रहे थे, वह अब 11 लाख पाउंड यानी करीब 10 करोड़ रुपये में नीलाम की गई है। 

ध्यान देने वाली बात ये है की 1971 से ही इस परिवार के घर पर लगी थी। अनुमान से 7 गुना ज्यांदा मिली कीमत लंदन स्थित ऑक्श न हाउस सोथेबी के फ्री ऑनलाइन एस्टिमेट प्लेटफॉर्म पर जब परिवार ने पेंटिंग पर किए गए हस्ताक्षर को गूगल किया, तो चौंक गए। इस पेंटिंग को नीलामी से पहले लगाए गए कयास से सात गुना ज्यादा कीमत मिली।  पेंटिंग में इफि की शाही राजकुमारी एडीतुतु का चित्र बनाया गया था। बेन ने बनाई थी एडीतुतु की तीन पेंटिंग्स बुकर पुरस्कार विजेता उपन्यासकार बेन ओकरी ने बताया कि यह पेंटिंग नाइजीरिया के लिए एक राष्ट्रीय आइकन है। इसे माना जाता था। बेन इनवॉनवू की साल 1994 में मौत हो गई थी। बेन ने राजकुमारी एडीतुतु की तीन पेंटिंग्स बनाई थीं। 1960 के दशक में नाइजीरियाई-बियाफ्रान संघर्ष के दौरान उनक यह पेटिंग शांति का प्रतीक बन गई।

यहाँ रेस्ट्रा में खान परोसते है रोबोट, जाने ख़ास

यहाँ दिखे 2200 साल पुराने सिक्के, अभी चलन से है बाहर

परीक्षा में नक़ल रोकने के लिए अपनाया अनोखा तरीका, पहना दिया गट्टे का डिब्बा