'आज पंजाब के युवाओं में निराशा, क्योंकि यहाँ नशाखोरी..', चुनाव प्रचार में अपने ही साथी दल को घेर गए खड़गे
'आज पंजाब के युवाओं में निराशा, क्योंकि यहाँ नशाखोरी..', चुनाव प्रचार में अपने ही साथी दल को घेर गए खड़गे
Share:

अमृतसर: कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने आज मंगलवार को कहा कि अगर केंद्र में इंडिया ब्लॉक सत्ता में आता है, तो वे कृषि उपकरणों को जीएसटी के दायरे से बाहर कर देंगे। आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए, खड़गे ने केंद्र में पीएम मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार पर निशाना साधा और कहा कि जब किसानों ने अपनी मांगों को रखने के लिए दिल्ली में प्रवेश करने की कोशिश की, तो उन पर आंसू गैस के गोले दागे गए।"

खड़गे ने कहा कि, पंजाब और हरियाणा, भौगोलिक रूप से कम भूमि होने के बावजूद, पूरे देश में सबसे अधिक उत्पादन करते हैं। इन दोनों राज्यों से देश को खाद्यान्न मिलता है। यहां के किसानों को लगता है कि उन्हें MSP के मुताबिक अच्छा और उचित मूल्य मिलना चाहिए। किसानों ने ( 2020-21) आंदोलन किया और भाजपा सरकार के सामने अपनी मांगें रखीं । लेकिन फिर भी सरकार नहीं मानी। उन पर आंसू गैस के गोले दागे गए। किसान पूरे साल सड़कों पर बैठा रहा।" उन्होंने कहा कि, "हम MSP को कानूनी गारंटी देंगे जो हमारे पांच न्याय (न्याय) में से एक है।" 

कांग्रेस अध्यक्ष ने यह भी कहा कि उनकी सरकार लोगों को 10 किलो मुफ्त अनाज भी देगी। उन्होंने कहा कि, "पांच न्याय के साथ-साथ हमारी पार्टी ने 25 गारंटी भी दी हैं। हम लोगों को 10 किलो अनाज मुफ्त देंगे। हम फसल बीमा मुआवजा राशि का भुगतान 30 दिनों के भीतर करने का काम करेंगे। हम कृषि सामग्री को GST के दायरे से बाहर करेंगे। विभिन्न कृषि उपकरणों पर वर्तमान में 5-12 प्रतिशत जीएसटी लगता है। इसके अलावा, खड़गे ने राज्य में नशे की समस्या की ओर इशारा किया और इसे पंजाब के भविष्य के लिए सबसे बड़ी चुनौती बताया। 

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, "आज पंजाब के युवाओं में निराशा है, क्योंकि यहां नशाखोरी राज्य के भविष्य के लिए सबसे बड़ी चुनौती बन गई है। इसकी वजह से राज्य में कानून-व्यवस्था दिन-ब-दिन खराब होती जा रही है। किसान अपनी जमीन बेच रहे हैं और अपने बच्चों को इस डर से विदेश भेज रहे हैं कि कहीं वे नशे की लत में न फंस जाएं क्योंकि यहां रोजगार के अवसर उपलब्ध नहीं हैं। " उन्होंने कहा, "नोटबंदी और गलत GST ने पंजाब के एमएसएमई को बहुत नुकसान पहुंचाया है। अगर हमारी सरकार आती है तो हम इसे बहुत सरल बना देंगे और छोटे उद्योगों को चलाने के लिए जो भी कदम उठाने की जरूरत होगी, हम उन्हें लागू करेंगे।" हालाँकि, मजे की बात ये है कि, पंजाब की ख़राब हालत की दुहाई देकर खड़गे अपने ही गठबंधन साथी AAP पर निशाना साध रहे थे, जो दिल्ली में उनके साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है, दिल्ली में तो पूरे गांधी परिवार ने भी AAP को वोट डाला है। हालाँकि, पंजाब में दोनों दुश्मन हैं, लेकिन यदि खड़गे जी की बात मान भी लें, तो AAP से पहले यहाँ 5 साल कांग्रेस ही सत्ता में थी, फिर राज्य की हालत ख़राब क्यों ? AAP भी MSP देने का वादा करके ही सत्ता में आई थी, लेकिन दो साल हो गए भगवंत मान सरकार के खिलाफ भी किसान प्रदर्शन कर रहे हैं, उन्हें MSP नहीं मिल रही है। किसानों को भरोसे में लेने का एक आसान तरीका ये हो सकता है कि, पार्टियां अपने-अपने राज्यों में किसानों को MSP दे, क्योंकि ये अधिकार राज्य सरकार के पास भी है और फिर उसे जनता के सामने पेश करे, लेकिन ऐसा कोई नहीं करता। चुनाव जीतने के लिए वादे सभी करते हैं। 

'बिहार में कहीं नहीं है कांग्रेस..', राहुल गांधी के सभी सीटें जीतने के दावे पर PK का तंज

'विनोद चौहान से डायरेक्ट बातचीत के सबूत, विजय नायर के साथ रचा खेल..', शराब घोटाले में केजरीवाल के खिलाफ ED की चार्जशीट

फ्रांस से 26 समुद्री राफेल जेल खरीदेगा भारत, 50 हज़ार करोड़ की डील पर जल्द लगेगी मुहर

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -