यह डाक टिकिट आपको बना सकती है करोड़पति

जी हाँ एक विशेष डाक टिकिट आपको करोडपति बना सकता है. शर्त यह है कि यह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 10 रुपये वाला डाक टिकिट हो जो 1948 में जारी हुआ था और इस पर ‘सर्विस’ प्रिंट होना चाहिए. आजादी के तत्काल बाद मात्र 200 डाक टिकिट विशेष रूप से भारत के गवर्नर जनरल के लिए प्रिंट किए गए थे और अब हर एक की कीमत करोड़ों में है.

अंतिम बार जिनेवा में हुई नीलामी में गांधीजी का दस रुपये वाला एक डाक टिकिट 1.6 लाख पाउंड यानी करीब एक करोड़ 32 लाख रुपये में बिका था. दरअसल आज़ादी से पूर्व भारत में ब्रिटिश शासन का डाक टिकिट चलता था. आजादी के बाद ब्रिटिश सरकार को अपने दफ्तर बंद करते समय डाक टिकिटों की आवश्यकता पड़ी. तब भारत सरकार ने 1948 में गांधीजी की तस्वीर वाली 10 रुपये कीमत की सिर्फ 200 ‘सर्विस’ टिकिट ही प्रिंट की.

इसमें से 100 टिकिट  उस समय के गवर्नर जनरल ऑफ इंडिया को इस्तेमाल के लिए दे दिए गए. शेष 100 में से कुछ उस समय के प्रमुख लोगों व अधिकारियों को तोहफे में दिए गए. इनमे से कुछ आज भी राष्ट्रीय अभिलेखागार व डाक संग्रहालय में उपलब्ध हैं. केवल 10 टिकिट  निजी हाथों तक पहुंच पाए. आज इन दुर्लभ टिकिटों की कीमत करोड़ों में हैं.

उम्रकैद काट रहे प्रेमीजोड़े को मिली ज़मानत

तेलंगाना: उर्दू को मिला दूसरी आधिकारिक भाषा का दर्जा

राष्ट्रवाद थोपने की बात पर जमकर बरसे 'जावेद अख्तर'

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -