इसीलिए अकबर ने भगवान राम की आकृति के सिक्के जारी किये थे
इसीलिए अकबर ने भगवान राम की आकृति के सिक्के जारी किये थे
Share:

 

भारत के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी के द्वारा पिछले वर्ष पांच नवम्बर को एक सोने का सिक्का जारी किया गया, जिसमे एक तरफ अशोक चक्र व दूसरी तरफ राष्ट्र पिता महात्मा गांधी की आकृति बनी थी. नरेन्द्र मोदी भारत के ऐसे पहले प्रधानमन्त्री है, जिनके हाथों यह कार्य किया गया. यह परंपरा आज से नहीं प्राचीन काल से ही अस्तित्व में है. जब कोई राजा किसी दूसरे राजा पर विजय प्राप्त करता था, तो वह अपनी विजय के उपलक्ष्य में कोई न कोई सिक्का अवश्य जारी करता था. आइये जानते है कि इतिहास में किस राजा ने कौन से सिक्के जारी किये थे?

अकबर के द्वारा जारी किये गए सिक्के – जब अकबर ने असीरगढ़ के किले पर विजय प्राप्त की तब उसने बाज की आकृति वाले सिक्के जारी किये थे तथा बाद में अकबर के द्वारा एक चांदी का सिक्का जारी किया गया जिसमे एक तरफ भगवान राम व माता सीता और दूसरी तरफ कलमा लिखा हुआ था. इन्ही सिक्कों के आधार पर इतिहासकार इस बात का अंदाजा लगाते है कि वह राजा साम्प्रदायिक एकता का प्रतीक है.

मुहम्मद गौरी के द्वारा जारी किये गए सिक्के – मोहम्मद गौरी ने जब भारत पर विजय प्राप्त की और दिल्ली सल्तनत की नीव रखी तब उसने हिन्दू जनता से अपने रिश्तों को सुधारने के लिए एक सिक्का जारी किया, जिसमे एक तरफ माता लक्ष्मी और उसके दूसरी तरफ नागरी भाषा में उसका नाम उकेरा हुआ था.

इंडो यूनानी शासकों के द्वारा जारी किये गए सिक्के – भारत में इंडो यूनानी शासकों के द्वारा भी कई सिक्के जारी किये गए जिनमे भगवान शिव, भगवान कृष्ण व गौतम बुद्ध की आकृति बनी थी.

पुष्कर के अलावा कहीं नही है ब्रम्ह देव का दूसरा मंदिर, जानिए वजह

माता सरस्वती के कारण ही महर्षि वाल्मीकि कर पाए रामायण की रचना

मथुरा का यह मंदिर जो शादी में आ रही बाधा को करता है ख़त्म

भगवान की स्तुति करने का सबसे उत्तम समय है ये

रिलेटेड टॉपिक्स