अभी लंबा सफर तय करना है- निशानेबाज जीतू राय

दिल्ली: 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में निशानेबाजी में स्वर्ण पदक जीतने वाले  भारत के दिग्गज निशानेबाज जीतू राय का कहना है कि वह भले ही उम्र से बड़े हों, लेकिन इस खेल में बच्चे हैं. राजधानी दिल्ली में आयोजित एक समारोह में शामिल हुए जीतू ने कहा कि अभी वह बच्चे हैं और उन्हें अपने करियर में लंबा सफर तय करना है. जीतू ने कहा, "मैं निशानेबाजी में तो अभी बच्चा हूं. मैं उम्र में बच्चा नहीं हूं, लेकिन निशानेबाजी में अभी बच्चा हूं. अभी मुझे लम्बा सफर तय करना है. 2013 से मैंने निशानेबाजी शुरू की थी. अभी सिर्फ पांच साल ही हुए हैं. ऐसे में अभी तो और भी आगे जाना है. अभी मन नहीं भरा है."

ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित हुए राष्ट्रमंडल खेलों में जीतू ने पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम किया. हालांकि, वह 2014 में ग्लास्गो में हुए 20वें राष्ट्रमंडल खेलों की 50 मीटर पिस्टल में जीते स्वर्ण को नहीं बचा पाए. जीतू ने कहा, "10 मीटर एयर पिस्टल में अच्छा प्रदर्शन किया था. 50 मीटर स्पर्धा के दौरान हवा थोड़ी ज्यादा थी. इस कारण मेरी तकनीक में थोड़ी गड़बड़ी हो गई और इसीलिए, मैं स्वर्ण पदक को बचाने से चूक गया."

जीतू ने कहा, "इन खेलों में प्रतिस्पर्धा अधिक मुश्किल नहीं होती, क्योंकि इसमें जापान और कोरिया के निशानेबाज नहीं थे. इसके बावजूद भी अपनी मेहनत से इसमें पदक जीता, जो देशवासियों के लिए है. असली परीक्षा एशियाई खेलों और विश्व चैम्पियनशिप में होगी." गौरतलब है कि इस बार कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत के सभी खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन कर देश का गौरव बढ़ाया है. 

CWG2018 : देश के लिए गोल्ड लाने वाली मनु भाकर का हुआ अपमान

वीडियो : ये आंकड़े बनाते है ऑस्ट्रेलिया को ''कॉमनवेल्थ गेम्स'' का किंग...

जीतू राय की सफलता की कहानी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -