टेक्सास के इस स्कूल में अचानक मातम में बदल गया पढ़ाई का माहौल, 18 बच्चों समेत कई की मौतें

वाशिंगटन: अमेरिका के टेक्सास में एक स्कूल में भीषण गोलीबारी की घटना सुनने के लिए मिली है. इस वारदात में 18 बच्चों की जान चली गई है और कई घायल बताए जा रहे हैं. तीन टीचर को भी मौत के घाट उतारा जा चुका है. टेक्सास के राज्यपाल ने ये सूचना भी जारी कर दी है.  बीते दिनों भी अमेरिकी में ऐसी ही भीषण गोलीबारी देखने को मिल गई है. इस घटना पर राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा है कि मैं इस सबसे थक गया हूं, अब हमें एक्शन लेना होगा.

टेक्सास के गर्वनर Greg Abbott ने सूचना दी है कि गोलीबारी की घटना टेक्सास के उवाल्डे शहर में शुरू हो गई थी. वहां पर एक 18 साल के शूटर ने रॉब प्राथमिक विद्यालय में छात्रों को अपनी गोलियों का टारगेट बना लिया. गर्वनर के अनुसार उस गोलीबारी में 18 छात्रों की जान चली गई और तीन टीचर भी जान गंवा बैठे. प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने ये भी कहा है कि आरोपी शूटर ने हमला करने के उपरांत खुद को भी गोली मार ली. घटना दोपहर के वक्त की बताई जा रही है जब एक 18 साल के शूटर अचानक से स्कूल कैंपस में घुस गया था. जैसे ही पुलिस को शूटर के बारे में पता चला, तुरंत फोर्स मौके पर भेज दी गई, वहीं बच्चों के माता-पिता से कैंपस में ना जाने का अनुरोध भी किया गया है.

Greg Abbott ने इस हमले को बहुत घातक माना है. उनकी निगाह में उवाल्डे एक काफी छोटा शहर है, वहां भी जिस स्कूल में अपराधी ने ये कायराना हमला किया है, वहां पर सिर्फ 600 स्टूडेंट्स का नामांकन है. उन्होंने इस हमले की तुलना 2012 सैंडी हुक प्राथमिक विद्यालय में हुई गोलीबारी करना शुरू कर दिया है . लेकिन उन्होंने टेक्सास के इस गोलीकांड को अधिक घातक और चिंता बढ़ाने वाला माना है. हैरानी की बात ये भी है कि आरोपी शूटर ने दूसरी, तीसरी और चौथी क्लास में पढ़ने वाले मासूम बच्चों को अपनी गोली का निशाना बना लिया था. 2012 वाली घटना में भी 20 बच्चों को ऐसे ही मौत के घाट उतार डाला है.

इस वक़्त घटना स्थल पर पुलिस मौजूद है और घायलों का अस्पताल में उपचार चल रहा है. जो जानकारी मिल रही है कि इस गोलीबारी में कई छात्र बुरी तरह जख्मी हुए हैं जिनकी हालत गंभीर भी बताई जा रही है. ऐसे में मौत का आंकड़ा और अधिक भी बढ़ सकता है. अभी के लिए राज्यपाल के आदेश के उपरांत टेक्सास के रेंजर्स इस मामले की तफ्तीश में जुट चुके हैं. स्थानीय पुलिस से भी सहयोग लिया जा रहा है.

स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण प्रमुख विश्व स्वास्थ्य पैनल के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त

गोयल ने विश्व नेताओं के साथ बातचीत की, भारत को निवेश केंद्र में से एक के रूप में पेश किया

इस्लामाबाद, बलूचिस्तान के कुछ हिस्सों में भूकंप के झटके महसूस किए गए

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -