सुरक्षा को लेकर जेलों में किए जाएंगे कड़े इंतजाम

भोपाल: सेंट्रल जेल से सिमी के आतंकियों के भागने और फिर उनके एनकाउंटर के बाद अब जेलों में सुरक्षा को लेकर इंतजाम किए जा रहे हैं इस बारे में मुख्य सचिव ने एक स्टेट लेवल कमेटी का गठन भी किया है। इसमें जेल के एक एडीजी, मुख्यालय से एक एडीजी और पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर रहेंगे। यह लोग आठ दिन के अंदर जेलों की स्टेटस रिपोर्ट देंगे। और फिर इसी के आधार पर फंड को मंजूरी दी जाएगी।

जब से भोपाल के सेन्ट्रल जेल से सिमी के आतंकियों के भागने की घटना सामने आई है तब से ही भोपाल समेत 124 जेलों में सुरक्षा व्यवस्था और उसकी खामियों को दूर करने के लिए 250 करोड़ रुपए खर्च करने की तैयारी है। इस तैयारी में हर जेल के बाहर 25 फीट ऊंची एक और दीवार बनाई जाएगी, और जिस पर इलेक्ट्रिक फेंसिंग होगी।

जेल का अंदाजा लगाने के लिए छत्तीसगढ़ की 30 जेलों में सोलर पैनल के जरिए बाउंड्रीवाल पर इलेक्ट्रिक फैंसिंग की ये व्यवस्था है, इसलिए सतना जेल के जेलर को रायपुर और दुर्ग जेल के निरीक्षण के लिए रवाना किया गया है। इतना ही नहीं प्रदेश के जेलों में जैमर लगाए जाएंगे। इस पर 10 करोड़ रुपए खर्च होंगे।

जैसा की आप भी जानते है कि भोपाल के सेन्ट्रल जेल से सिमी आतंकियों के भागने के बाद यह तैयारियां की जा रही है और इसीलिए सुरक्षा व्यवस्था की शुरूआत इसी जेल से की जाएगी। इस व्यवस्था के अंतर्गत यहां 21 प्वाइंट पर जैमर लगाने का सर्वे पूरा हो चुका है। इंटेलीजेंस से क्लीयरेंस होने के बाद इसे लगाया जाएगा।

पांडे को सौंपी एनकाउंटर मामले की जांच

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -