18 फीसदी कम हुई प्राकृतिक गैस की कीमत

नई दिल्ली : प्राकृतिक गैस की दरे बुधवार को 18 फीसदी कम करके 3.82 डॉलर प्रति यूनिट कर दी गई जो अब तक की सबसे बड़ी कटौती बताई जा रही है। वही कीमत घटने के कारण सरकार को तक़रीबन 800 करोड़ रुपये का राजस्व नुकसान होगा जबकि ONGC जैसी कंपनियों का मुनाफा घटेगा।

पेट्रोलियम मंत्रालय के मुताबिक, पिछले वर्ष अक्तूबर में सरकार द्वारा मंजूर फार्मूले के अनुसार प्राकृतिक गैस की कीमत, सकल कैलोरिफिक मूल्य (GCV) आधार पर 1 अक्तूबर से 6 महीने के लिए घटकर 3.82 डॉलर प्रति 10 लाख ब्रिटिश थर्मल यूनिट पर आ जाएंगी जो मौजूदा समय में 4.66 डॉलर प्रति दस लाख ब्रिटिश थर्मल यूनिट है। निवल कैलोरिफिक मूल्य (NCV) आधार पर यदि गणना की जाये तो 1 अक्तूबर से 31 मार्च, 2016 के लिए गैस का नया मूल्य 4.24 डॉलर प्रति 10 लाख ब्रिटिश थर्मल यूनिट होगा जो वर्तमान में 5.18 डॉलर है।

उद्योग के अनुमान के अनुसार, यह कटौती अब तक की सबसे बड़ी कटौती है और इससे ONGC जैसी कंपनियां एवं केन्द्र सरकार की कमाई प्रभावित होगी जिनका रायल्टी और आयकर से होने वाला राजस्व करीब 800 करोड़ रुपये घट जाएगा। वहीं राज्य सरकार को गैस की बिक्री पर वैट से मिलने वाला राजस्व भी 250 करोड़ रुपये घटेगा।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -