Share:
'धीरज साहू के ठिकानों से मिले कैश के अंबार ने बनाया 'सबसे बड़ा' रिकॉर्ड!', जानिए जब्ती वाले अब तक के सबसे चर्चित 5 मामले
'धीरज साहू के ठिकानों से मिले कैश के अंबार ने बनाया 'सबसे बड़ा' रिकॉर्ड!', जानिए जब्ती वाले अब तक के सबसे चर्चित 5 मामले

नई दिल्ली: कांग्रेस के राज्यसभा सांसद धीरज साहू के घर एवं ठिकानों से अगणनीय दौलत का खजाना प्राप्त हुआ है। 5 दिन पहले झारखंड, ओडिशा तथा पश्चिम बंगाल में 9 ठिकानों पर एक साथ छापा मारा गया था और तलाशी ली गई। छापेमारी में कुल 351 करोड़ रुपए मिले हैं। यह कार्रवाई एक रिकॉर्ड बन गई है। किसी भी एजेंसी द्वारा एक ही ऑपरेशन में अब तक की सबसे अधिक नकदी बरामद की गई है। आयकर विभाग का मानना है कि बेहिसाब पैसे का पूरा भंडार धीरज साहू तथा उनसे जुड़े हुए व्यापारिक समूह, वितरकों और अन्य लोगों द्वारा देशी शराब की नकद बिक्री से अर्जित किया गया है. 

आयकर विभाग उन अफसरों एवं अन्य कर्मचारियों के बयान भी दर्ज कर रहा है जो तलाशी अभियान के चलते उन स्थानों पर मौजूद थे. आयकर विभाग जल्द ही कंपनी के मुख्य प्रमोटरों को अपने बयान दर्ज करने के लिए समन जारी करेगा. अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि साहू के घर से कितनी नकदी और अन्य दस्तावेज बरामद किए गए. वही इससे पहले 2019 में सबसे ज्यादा कैश कानपुर से बरामद हुआ था जब GST इंटेलिजेंस ने एक कारोबारी के घर पर छापा मारा था एवं 197  करोड़ रुपये की नकदी बरामद की थी. इसी प्रकार का एक अन्य मामला 2018 में तमिलनाडु में सामने आया था जहां एक सड़क निर्माण फर्म के खिलाफ आयकर विभाग ने तलाशी के चलते 163 करोड़ रुपये की नकदी बरामद की थी. आइए जानते हैं वो धीरज साहू के अतिरिक्त वो 4 चर्चित मामले जहां बड़े आंकड़े में कैश बरामदगी हुई-

यूपी कानपुर- 


2021 में उत्तर प्रदेश में इत्र कारोबारी पीयूष जैन के कन्नौज और कानपुर के ठिकानों से 207 करोड़ रुपये (196.54 करोड़ रुपये नकद और 23 किलो सोना) बरामद किए गए थे. तत्पश्चात, आगे की पूछताछ के लिए पीयूष को गिरफ्तार कर किया गया था पूछताछ तथा अदालती कार्रवाई के बाद उन्हें सितंबर 2022 में बेल मिली थी. इस सिलसिले में पीयूष ने बाद में अदालत में एक अर्जी दाखिल की है. इस अर्जी में पीयूष जैन ने साफ़ तौर पर कहा, 'मेरे ऊपर टैक्स चोरी और पेनाल्टी समेत 52 करोड़ रुपए का टैक्स बनता है, ऐसे में डायरेक्टरेट ऑफ़ जीएसटी इंटेलिजेंस (DGGI) 52 करोड़ रुपए काटकर बाकी रकम मुझे वापस कर दे.'  तत्पश्चात, ये बात निकलकर सामने आई है कि पीयूष जैन और उनके 11 साथियों को टैक्स और जुर्माने के तौर पर 497 करोड़ रुपये चुकाने होंगे.

महाराष्ट्र- 


अगस्त 2022 में महाराष्ट्र के जालना में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने स्टील, कपड़ा व्यपारी तथा रियल एस्टेड डेवलपर के यहां छापेमारी की थी जिसमें बड़ी मात्रा में बेनामी संपत्ति विभाग को मिली. लगभग 390 करोड़ की बेनामी संपत्ति को आयकर विभाग ने बरामद किया था जिसमें 58 करोड़ रुपये कैश, 32 किलो सोना, हीरे-मोती के दाने तथा कई प्रॉपर्टी के कागजात सम्मिलित थे. 

तमिलनाडु- 


2018 में तमिलनाडु में आयकर विभाग ने राजमार्ग निर्माण के काम में लगी एक कंपनी के परिसरों पर छापेमारी के चलते 163 करोड़ रूपये नकद एवं 100 किलोग्राम सोना बरामद किया था.

पश्चिम बंगाल- 


तृणमूल कांग्रेस सरकार में पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी तथा उनकी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी पर जब प्रवर्तन निदेशालय ने छापेमारी की थी तो इस के चलते 49.80 करोड़ रुपये नकद, कई प्रॉपर्टीज, आभूषण और  गोल्ड बार बरामद की थी.ये नकदी अर्पिता मुखर्जी के अपार्टमेंट से मिली थी.

शेयर बाजार ने रचा इतिहास, पहली बार 70000 के पार पहुंचा सेंसेक्स, झूमे निवेशक

बस कुछ घंटों का और इंतजार... फिर मिल जाएगा मध्य प्रदेश को अपना 'नया मुख्यमंत्री', जानिए शिवराज सिंह पर क्या है विश्लेषकों की राय?

'मैं तुझे गोली जरूर मार दूंगा...', TI को जान से मारने की धमकी देने वाले का हुआ शॉर्ट एनकाउंटर

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -