विपक्ष ने की सेशन बढ़ाने की मांग, विपक्ष आधार बिल के मसले पर घेरना चाहती है सरकार को

नई दिल्ली: सरकार ने विपक्ष की उस मांग को खारिज कर दिया है, जिसमें वो सेशन को बढ़ाने की मांग कर रहे थे। विपक्ष द्वारा 16 मार्च को खत्म होने वाले राज्यसभा के बजट सेशन के पहले फेज को दो दिनों तक बढ़ाने की मांग की गई थी। कहा जा रहा है कि विपक्ष आधार बिल को लेकर सरकार को घेरना चाहता है।

आधार बिल को सरकार ने पहले ही लोकसभा में पास करा लिया है। इसका नोटिफिकेशन उच्च सदन को सोमवार को मिला, इसके दो दिन बाद ही 39 दिनों का सेशन ब्रेक शुरु हो जाएगा। दरअसल नियमानुसार किसी भी बिल के नोटिफिकेशन के 14 दिनों के भीतर ही उस पर चर्चा हो जानी चाहिए अथवा उसे पास मान लिया जाता है।

सीपीएम नेता सीताराम येचुरी का कहना है कि आधार बिल साबित करता है कि राज्यसभा में घिरी सरकार इस सदन को बाइपास करना चाहती है। कांग्रेस नेता गुलाम नवी आजाद द्वारा आईएसआईएस की तुलना आरएसएस की तुलना किए जाने के बाद से मामला गरमा गया है। सोमवार को यह मुद्दा राज्यसभा में उठाया गया।

इसके जवाब में आजाद ने एक सीडी पेश की। मैंने कभी ऐसा नहीं देखा, यदि कुछ गलत हो तो आप बेशक मेरे खिलाफ प्रिविलेज मोशन ला सकते है। वित मंत्री अरुण जेटली का कहना है कि कांग्रेस ने आईएसआईएस को रिस्पेक्ट दिया है। देश भर में दो-तीन दिनों से हो रही बिन मौसम बारिश के कारण किसानों की बर्बाद हुई फसलों का मुद्दा कांग्रेस उफाध्यक्ष राहुल गांधी ने उठाया।

राहुल ने कहा कि केंद्रीय टीम को प्रभावित इलाकों का दौरा करना चाहिए, ताकि पिछले साल की तरह किसानों को परेशानी न झेलनी पड़े। केंद्र सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -