यह बूढ़ी महिला 15 साल की उम्र से खा रही है रेंत

वाराणसीः सभी को कुछ न कुछ खाने पीने का शौख होता है और शायद आप भी कुछ न कुछ खाने पीने का शौख रखते होंगे। लेकिन कुछ चीजें ऐसी होती हैं जिसे आप नहीं खा सकते लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं जो न खाने वाली चीजों को भी खाने का शौख रखते हैं। जी हां हम आपको कुछ ऐसी ही आश्चर्यजनक बात बताने जा रहे है जिसे जानकर शायद आपको यकीन न हो लेकिन यह बिलकुल सच है।

हम बात कर रहे है। वाराणसी की रहने वाली 78 साल की एक महिला की इसका नाम कुस्मावती है और खास बात यह है कि यह पिछले 63 सालों से रोजाना एक किलो रेंत खा रही है और इसी कारण यह चर्चा का विषय बनी हुई है। कुस्मावती का मनना है कि उन्हें रेत ना मिले तो वे बीमार पड़ जाती हैं और यदि रेत खाती रहती हैं तो स्वस्थ रहती हैं। अब आप भी सोंचते होंगे की यह कैसे पाॅसिबल हो सकता है। लेकिन यह सच है। 

कुस्मावती को रेत के अलावा और कुछ भी उसके समान अच्छा नहीं लगता। कुस्मावती का कहना है कि उन्हे रेत का स्वाद मीठा लगता है और इसे खाने का सिलसिला 15 साल की उम्र से शुरू हो गया था। जब वह बिमार पड़ी थीं तो उनका पेट फूलने लगा था जिसके इलाज के लिए वैध ने उन्हे दूध और साथ में 2 चम्मच रेत खाने की सलाह दी थी। और फिर धीरे-धीरे इसकी आदत पड़ गई। और आज की स्थिति में अगर कुस्मावती रेत नहीं खाती हैं तो उनका पेट दर्द करने लगता है और रात को नींद भी नही आती।

यह लड़की दिन में 10 बार सेक्स नहीं करे तो हो जाती है बेचैन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -