Share:
सैंडविच खाते ही सबकुछ भूल गई बच्ची, जाँच की तो डॉक्टर्स के भी उड़ गए होश
सैंडविच खाते ही सबकुछ भूल गई बच्ची, जाँच की तो डॉक्टर्स के भी उड़ गए होश

ऑस्ट्रेलिया से एक चौंकाने वाली घटना सामने आ रही है यहाँ हाल ही में एक 9 वर्षीय बच्ची के साथ सैंडविच खाने पर जो हुआ वह चौंकाने वाला था। दरअसल इस बच्ची को किसी चीज से कोई एलर्जी नहीं थी, इसके बाद भी एक मामूली सैंडविच खाने से वह लगभग मौत के मुंह में पहुंच गई। ये ऑस्ट्रेलियाई बच्ची अपने नाश्ते के सैंडविच में छिपे खतरे की वजह से बुरे हाल में पहुंच गई। इससे उसे सीवियर इंफेक्शन एवं न्यूरोलॉजिकल डैमेज हुआ। बच्ची की मां क्रिस्टन सॉन्डर्स ने एबीसी न्यूकैसल को बताया, "यह अजीब घटना जुलाई में घटी जब लड़की ने अपने होमटाउन न्यूकैसल, न्यू साउथ वेल्स में एक दुकान से बेकन-और-अंडे का सैंडविच खरीदा था।''

सॉन्डर्स याद करते हुए बोलती हैं कि मेरी बेटी ये खा रही थी, तभी अचानक उसका दम घुटने लगा। हमें लगा बस ये सैंडविच थोड़ा गले में अटक गया होगा। हमने उसकी पीठ थपथपाई तथा पानी पिला दिया और कहा कि सब ठीक हो जाएगा। सॉन्डर्स ने कहा, इसके पश्चात् उसे गले में खराश तथा खाना निगलने में कठिनाई होने लगी और आहिस्ता-आहिस्ता उसकी हालत बिगड़ने लगी। फिर एक दिन घर पर हमने नोटिस किया कि मेरी बेटी साधारण बात का जवाब देने में भी कंफ्यूज हो रही है।

बच्ची को ऐसे देख घबराए माता-पिता ने चिकित्सक को बुलाया। डॉक्टर ने जांच के पश्चात् उसे तुरंत इमरजेंसी वार्ड में शिफ्ट किया। हालांकि, जब तक डॉक्टर पहुंचे थे तबतक बच्ची की हालत इतनी खराब हो गई थी कि वह लड़खड़ा रही थी। साथ ही बच्ची याद्दाश्त खो रही थी तथा परिवार को पहचान नहीं रही थी। प्राप्त एक रिपोर्ट के मुताबिक, चिकित्सकों ने बाद में बताया कि उसके दिमाग में फोड़े हैं। चिकित्सकों ने आखिरी मिनट में सीटी स्कैन किया, जिसमें भयावह चीज सामने आई । दरअसल बच्ची की गर्दन में जो दिखा उससे डॉक्टर दंग रह गए। उन्हें गले में एक बाल जितना पतला तार मिला। ये एक बारबीक्यू ब्रश का टुकड़ा था। जो सैंडविच के अंदर होने के चलते बच्ची के शरीर में चला गया था।
 
कथित तौर पर इसने उसकी esophagus (अन्नप्रणाली) को छेद दिया था तथा कैरोटिड आर्टरी में अपना रास्ता बना लिया था। इसके चलते खतरनाक इंफेक्शन हो गया था। इसे ठीक करने के लिए चिकित्सकों को आर्टरी को बदलने, उसके दिमाग पर उपस्थित फोड़ों को निकालने तथा अन्य प्रक्रियाओं की जरुरत हुई जिसमें बच्ची की जान भी जा सकती थी। हालांकि, शुक्र है कि बच्ची का ऑपरेशन सफल रहा, जिसके बाद वह एक महीने तक अस्पताल में रही तथा आखिरकार ठीक होकर घर गई। इतना सब होने के बाद भी, सॉन्डर्स का दावा है कि स्थिति खराब हो सकती थीं। सॉन्डर्स ने कहा, "मैं लोगों को चेताना चाहूंगी, जो कुछ हुआ वह बिलकुल आम नहीं थी, भगवान न करे किसी को ये झेलना पड़े। सोचिए कितने बारबेक्यू चल रहे हैं जो खतरनाक हो सकते हैं।"

स्किन को नुकसान पहुंचा सकती है ये 5 गलतियां, आज हो जाएं सावधान

जानिए क्यों समय से पहले महिलाओं को बंद हो रहे हैं पीरियड्स?

जानिए क्यों 'मेंटल है क्या' को कर दिया गया 'जजमेंटल है क्या'

प्रदूषण से त्वचा को हो रहा है नुकसान, तो ऐसे रखें त्वचा का ध्यानइम्यूनिटी बढ़ाने के लिए नियमित रूप से करें इन योगों का अभ्यास

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -