क्रेश टेस्ट में फेल रही यह फेमस कारें

भारत में बढ़ती कारो को ध्यान में रखते हुए उनकी गुणवत्ता की जांच करना भी बहुत जरुरी है, कई कारें बाजार में लांच होती है लेकिन उनमे सफर करना बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता है क्योकि यह कारें सुरक्षित नहीं है. 

योरोपीय न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम (यूरो NCAP) की एक रिपोर्ट में सामने आया की भारत की कई कार क्रेश टेस्ट में फेल रही. इस क्रेश टेस्ट में टाटा, रेनो, महिंद्रा, हुंडई, मरुई सुजुकी इंडिया आदि को शामिल किया गया था. कारों में सेफ्टी फीचर्स को 2018-19 तक अनिवार्य कार दिया जायेगा. क्रेश टेस्ट में उन कारो को फेल कर दिया गया है जिनमे सेफ्टी फीचर्स नहीं दिए गए थे.

क्रेश टेस्ट में डेटसन गो, मारुती ऑल्टो, हुंडई EON, रेनो डस्टर और महिंद्रा स्कार्पिओ को शून्य स्टार रेंटिंग मिली है. NCAP ने डेटसन गो को 2016 में बाजार से अपनी कारे वापिस लेने को कहा था, इसका बॉडी स्ट्रक्चर बहुत हल्का था. हुंडई की EON कार को शून्य रेंटिंग दी गयी लेकिन यह कार बच्चों की सुरक्षा के लिए सही साबित हुई.

रेनो कार के बेस मॉडल जो की बिना एयरबैग का है, शून्य रेंटिंग दी गयी और भारत में बनी रेनो डस्टर को थ्री स्टार रेंटिंग दी गयी है, क्योकि इसमें ड्राइवर साइड एयरबैग दिया गया है.

ब्रांड्स जिनके नाम के पीछे है रोचक कहानियाँ

सबसे कम कीमत पर उपलब्ध है यह कारें

भारत में S-Cross की जबर्दस्त माँग

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -