पहले की तरह आज भी की जाती है लकड़ी पर नक्काशी

हम यह किताबो में पढ़ते आए है की जब पुराना जमाना था तब पेड़ो पर, पत्थरो पर नक्काशी की जाती थी। पहले के जमाने के लोग ऐसी ऐसी नक्काशी करते थे जिन्हें देखने के बाद कुछ और देखने का मन ही नही करता आज भी वो नक्काशी हमे मंदिरो पर देखने को मिल सकती है। आज भी जब उन्हें देखा जाता है तो वो बहुत ही सुंदर लगती है।

जब लोगो से इस नक्काशी के बारे में पूछा जाए तो उनका जवाब होता है यह पुराने जमने में ही की जाती थी अब नहीं की जाती। और अगर अब कोई करता भी है तो उस तरह नहीं कर पाता जैसे पहले होती थी। अगर आप भी ऐसा सोचते है तो यह गलत है। अब आप पूछेंगे की क्यों ? चलिए हम बताते है कि हम ऐसा क्यों कह रहे है। दरअसल में आज हम आपको नक्कशी की कुछ ऐसी तस्वीरे दिखने जा रहे है जोकि बहुत ही सुन्दर है।

हाँ हम जानते है पहले के मुकाबले नहीं है लेकिन बहुत ही सुंदर है। ये नक्काशी लकड़ी पर की गई है जोकि बहुत ही सुंदर है। आप भी देखिए।

जब पेड़ो के तनो से बना दी गई कलाकृति

ऐसे बनाए अब घर पर इमोजी वाले की- चैन

ये कोई जंगल नहीं है बल्कि बस एक ही पेड़ है

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -