Share:
असम में 40000 करोड़ से सेमीकंडक्टर प्लांट खोलेगा TATA ! कांग्रेस नेता चिदंबरम ने CM सरमा पर कसा तंज, बोले- जब बन जाए, तो मुझे जरूर बुलाना
असम में 40000 करोड़ से सेमीकंडक्टर प्लांट खोलेगा TATA ! कांग्रेस नेता चिदंबरम ने CM सरमा पर कसा तंज, बोले- जब बन जाए, तो मुझे जरूर बुलाना

गुहावटी: असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा की घोषणा के एक दिन बाद कि टाटा समूह ने पूर्वोत्तर राज्य में 40,000 करोड़ रुपये का सेमीकंडक्टर प्रसंस्करण संयंत्र बनाने के लिए आवेदन दिया है, कांग्रेस सांसद कार्ति पी चिदंबरम ने असम के मुख्यमंत्री से एक छोटा सा अनुरोध किया है। दरअसल, सीएम सरमा ने कल सोशल मीडिया पर लिखा था कि, "टाटा समूह ने असम में 40,000 करोड़ रुपये के निवेश के साथ एक सेमीकंडक्टर प्रसंस्करण संयंत्र स्थापित करने के लिए एक आवेदन प्रस्तुत किया है। यह एक गेम-चेंजर होगा। हमारे राज्य को बदलने में उनके निरंतर मार्गदर्शन के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को मेरा आभार।" 

इसके बाद कांग्रेस नेता चिदम्बरम ने आज शनिवार (9 दिसंबर) अपनी एक्स टाइमलाइन पर घोषणा को दोबारा पोस्ट किया - और एक अनुरोध जोड़ा। चिदम्बरम ने कहा कि, "जब सुविधा वास्तव में चालू हो तो मुझे कॉल करें।" इस पर सीएम हिमंत ने यह संकेत देते हुए कि वह चुनौती के लिए तैयार हैं, जवाब दिया, "हां। मैं करूंगा। वादा करता हूं।" दरअसल, कांग्रेस सांसद के पोस्ट को सीएम सरमा की विशाल परियोजना की घोषणा पर कटाक्ष के रूप में देखा गया। सेमीकंडक्टर परियोजना के पूरा होने पर चिदम्बरम के ट्वीट को भी विफलता की ओर इशारा करते हुए देखा गया था।

सीएम सरमा ने कहा है कि वह असम के युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए नीतियों पर काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री का आत्मनिर्भर असम अभियान 23 सितंबर को शुरू किया गया था, जिसके तहत दो लाख युवाओं को उद्यम शुरू करने के लिए सशक्त बनाया जाएगा। योजना के तहत लाभार्थियों को सूक्ष्म उद्यम या सेवा इकाइयां स्थापित करने के लिए सरकारी अनुदान और ब्याज मुक्त सरकारी ऋण के संयोजन के रूप में दो किस्तों में 2 लाख रुपए मिल सकते हैं। 

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की है कि वह चाहते हैं कि भारत दुनिया के लिए चिप निर्माता बने, लेकिन 2021 में पहली बार रखी गई उन महत्वाकांक्षाओं को झटका लगा है। भारत में अभी तक कोई चिप विनिर्माण संयंत्र नहीं है, हालांकि भारत की वेदांता और ताइवान की फॉक्सकॉन दोनों ही सुविधाओं के निर्माण पर विचार कर रही हैं।  भारत और विश्व स्तर पर सेमीकंडक्टर की मांग भी बढ़ रही है। सरकार ने अनुमान लगाया है कि घरेलू चिप बाजार 2028 तक लगभग 6 लाख करोड़ रुपए का हो जाएगा, जो वर्तमान में 1.9 लाख करोड़ रुपए है।

गौरी लंकेश हत्याकांड में 5 साल से कैद आरोपी को मिली जमानत, जानिए क्या बोली कर्नाटक हाई कोर्ट ?

'B.Ed डिग्री धारक प्राथमिक विद्यालयों में पढ़ाने के लिए अयोग्य..', पटना हाई कोर्ट का बड़ा फैसला

श्रृद्धा के 35 टुकड़े करने वाला आफताब जेल में करता है बिसलेरी पानी और नए कपड़े की डिमांड, बोला- 'हाँ, हो गई मुझसे गलती, अब क्या मर जाऊँ?'

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -