Share:
'बड़ी-बड़ी बात करते हैं, मेरे खिलाफ हैदराबाद से लड़कर दिखाएं..', राहुल गांधी को ओवैसी की खुली चुनौती
'बड़ी-बड़ी बात करते हैं, मेरे खिलाफ हैदराबाद से लड़कर दिखाएं..', राहुल गांधी को ओवैसी की खुली चुनौती

हैदराबाद: ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (AIMIM) प्रमुख और हैदराबाद से लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को खुली चुनौती देते हुए उनसे हैदराबाद से लोकसभा चुनाव लड़ने का आह्वान किया है। केरल में राहुल गांधी के लोकसभा क्षेत्र का जिक्र करते हुए ओवैसी ने कहा कि, 'अबकी बार वायनाड नहीं, अबकी बार हैदराबाद।''

ओवैसी ने सख्त लहजे में कहा कि, ''आप [राहुल गांधी] बड़े-बड़े बयान देते रहते हैं, मैदान में आएं और मेरे खिलाफ लड़ कर दिखाएं। कांग्रेस के लोग बहुत सी बातें कहेंगे, लेकिन मैं तैयार हूं।'' उन्होंने रविवार, 25 सितंबर को हैदराबाद में एक सार्वजनिक बैठक में राहुल गांधी को ये चुनौती दी। राहुल गांधी के खिलाफ औवेसी का यह हमला कांग्रेस नेता द्वारा उनपर निशाना साधने के कुछ दिनों बाद आया है। दरअसल, राहुल ने कहा था कि, ओवैसी भाजपा की जेब में हैं, और इसलिए केंद्रीय जांच एजेंसियां उनकी जांच नहीं कर रही हैं।

राहुल गांधी ने पिछले हफ्ते कांग्रेस द्वारा तेलंगाना में अपनी चुनावी गारंटी की घोषणा के बाद तुक्कुगुडा में एक सभा में कहा था कि, ''AIMIM  के खिलाफ कोई मामला नहीं है। सिर्फ विपक्ष पर हमला किया जाता है। मोदी जी कभी अपने ही लोगों पर हमला नहीं करते. वह आपके सीएम  (KCR) और AIMIM नेताओं को अपना मानते हैं, और इसलिए, उनके खिलाफ कोई मामला नहीं है।'' राहुल ने कहा था कि तेलंगाना में कांग्रेस न केवल सत्तारूढ़ भारत राष्ट्र समिति (BRS) से लड़ रही है, बल्कि भाजपा और AIMIM से भी लड़ रही है। उन्होंने दावा किया कि, 'वे एक-दूसरे को अलग-अलग पार्टियां कहते हैं, लेकिन वे मिलीभगत से काम कर रहे हैं।'

वायनाड में मुस्लिम लीग ने राहुल गांधी को बचाया - ओवैसी

बता दें कि, इससे पहले ओवैसी ने दावा करते हुए कहा था कि, कांग्रेस केवल मुस्लिम वोटों के कारण ही बची हुई है। खुद को भाजपा की B टीम बताए जाने पर ओवैसी ने कहा था कि, "राहुल गांधी अमेठी में हार गए, लेकिन वायनाड में जीत गए। असदुद्दीन औवेसी ने वहां चुनाव नहीं लड़ा। मेरी वहां भाजपा के साथ कोई डील नहीं थी। वे वायनाड से जीते क्योंकि वहां मुस्लिम लीग है, मुस्लिम लीग ने राहुल गांधी को डूबने से बचाया।" इससे पहले जब राहुल गांधी ने एक पत्रकार के सवाल को टालते हुए कहा था कि, ''मैंने राहुल गांधी को मार डाला है, राहुल गांधी आपके दिमाग में है, मेरे दिमाग में नहीं।'' इस पर ओवैसी ने उन पर तंज कसते हुए कहा था कि, ''राहुल गांधी कह रहे हैं कि, मैंने खुद को मार डाला, तो फिर तू कौन है, जिन्न है क्या ?'' 

बता दें कि ओवैसी की AIMIM विपक्षी दलों के गठबंधन I.N.D.I.A. का हिस्सा नहीं है, जिसमें कांग्रेस समेत 28 पार्टियां शामिल हैं। वास्तव में, ओवेसी इस राजनीतिक मोर्चे के बेहद आलोचक रहे हैं और उन्होंने कहा है कि उन्हें "इसकी परवाह नहीं है"; इसके बजाय, उन्होंने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव से 'तीसरा मोर्चा' बनाने की बात कही है।

संजय राउत और कांग्रेस नेताओं को पसंद नहीं आया नए संसद भवन का डिजाइन, सरकार पर साधा निशाना

'विपक्षी गठबंधन की लड़ाई भारतीय राज्य के साथ..', राहुल गांधी ने बताया I.N.D.I.A. गठबंधन का लक्ष्य

दानिश अली को झप्पी, उदयनिधि पर चुप्पी ! क्या राहुल गांधी की 'मोहब्बत की दुकान' में हिन्दुओं के लिए कोई जगह नहीं ?

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -