शहीद के परिजनों के साथ मजाक, मिला चेक हुआ बाउंस

शेखपुरा. सुकमा में नक्सली हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवान रंजीत यादव का परिवार दर-दर के ठोकरे खा रहा है. शहीद होने के बाद सीआरपीएफ जवान की पत्नी को बिहार सरकार द्वारा सहायता राशि का 5 लाख रूपये का चेक बाउंस हो गया है. इस बारे में शहीद की पत्नी सुनीता देवी ने जानकारी देते हुए बताया कि स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियो द्वारा 26 अप्रैल को 5 लाख रूपये का चेक मुहैया कराया गया था. दिया गया चेक शेखपुरा स्थित एचडीएफसी बैंक का था.

इस चेक को जमुई के अलीगंज स्थित एसबीआई ब्रांच के अपने अकॉउंट में डाल दिया गया. किन्तु एक सप्ताह बाद बैंक कर्मियों द्वारा चेक बाउंस होने की जानकारी दी गई. सुनीता देवी ने बताया कि बैंक कर्मियों के अनुसार एचडीएफसी के चेक में मौजूद जिलाधिकारी दिनेश कुमार का हस्ताक्षर नहीं मिलने के कारण चेक बाउंस कर दिया गया. इस मामले में शहीद के परिजनों से मिलने गए राजद नेता विजय सम्राट ने जिला प्रशासन पर जम कर निशाना साधा.

उन्होंने कहा कि शहीद के आश्रितों को सहायता के नाम पर अपनाए जा रहे जिला प्रशासन की दोहरी नीति साफ झलकती है. दूसरी और एचडीएफसी के ब्रांच मैनेजर अमित कुमार ने बताया कि तकनीकी गड़बड़ी के कारण चेक भुगतान होने में मामूली बाधा पहुंची है. इस समस्या को दूर करने के लिए एचडीएफसी टीम गठित कर 24 घंटे के अंदर भुगतान की प्रक्रिया पूरी की जाएगी.

ये भी पढ़े 

कोबरा करेगा बस्तर में नक्सलवाद का सफाया

नक्सलियों के खिलाफ अपनानी होगी आक्रामक रणनीति और उन्नत प्रौद्योगिकी

नक्सलवाद को लेकर केंद्र आज करेगा प्रभावित राज्यों से बात

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -