कर्नाटक में कांग्रेस को शर्मा ट्रेवल्स का सहारा

कर्नाटक में चल रहे सत्ता के ड्रामे के साथ ही, यह कहानी काफी उलझी हुई नजर आ रही है, पहले बीजेपी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला उसके बाद ही कांग्रेस और जेडीएस ने गठबंधन कर बहुमत पेश करने के लिए राज्यपाल को खत लिखा लेकिन राज्यपाल ने बीजेपी को सरकार बनाने का न्यौता दिया इस बीच अपने विधायकों को लाने और ले जाने के लिए कांग्रेस और जेडीएस शर्मा ट्रेवल्स की बसों का उपयोग कर रही है, इसके पीछे की कहानी भी बहुत ही इंट्रेस्टिंग है. 

कांग्रेस के नेता रहे धनराज शर्मा ने 1980 से राजस्थान से दक्षिण का रुख किया जहाँ पर राजनीति में सक्रीय होने के बाद 1998 में कांग्रेस के टिकट से चुनाव लड़ा था जिसमें उन्हें हार का मुँह देखना पड़ा. धनराज को पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव, राजीव गांधी और इंदिरा गांधी का करीबी माना जाता है. कई बिजनेस के साथ-साथ धनराज शर्मा ने ट्रैवलिंग का बिजनेस भी शुरू किया था, 2001 में उनके निधन के बाद यह काम उनके बेटे सुनील शर्मा देखते है, ये बस सर्विसेज बेंगलुरु से मुंबई, पुणे, अहमदाबाद, चेन्नई, हैदराबाद, गोवा के बीच चलती है.

बता दें, बीजेपी को बहुमत साबित करने के जरुरी विधायकों की संख्या के लिए विधायकों की और जरूरत थी जिसके बाद जेडीएस के कुमारस्वामी ने बीजेपी पर 100-100 करोड़ रुपए में विधायक खरीदने का आरोप लगाया था जिसके बाद ही कांग्रेस और जेडीएस अपने विधायकों को कड़ी निगरानी के बीच के एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जा रही है. 

बार डांसर पर आया दिल तो लूटा दिए करोड़ों रूपये

इस वजह से 9 लाख वर्ग किलोमीटर और बढ़ गया रेगिस्तान का दायरा

स्टेशन के वो नाम जिन्हे पढ़ने के बाद केवल हंसी आएगी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -