Share:
मध्यप्रदेश के 52 जिलों में प्रारंभ हुई स्नेह यात्रा, देशभर से पधार रहे संत-महात्मा गाँव-गाँव जाकर देंगे एकात्मकता को बढ़ावा
मध्यप्रदेश के 52 जिलों में प्रारंभ हुई स्नेह यात्रा, देशभर से पधार रहे संत-महात्मा गाँव-गाँव जाकर देंगे एकात्मकता को बढ़ावा

भोपाल। समाज के विभिन्न वर्गों में आत्मीयता का भाव बढ़ाने के उद्देश्य से मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद्, योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग म.प्र. शासन द्वारा प्रदेश व्यापी स्नेह यात्रा का शुभारंभ किया जा रहा है। 16 अगस्त से 26 अगस्त तक चलने वाली इस यात्रा में प्रत्येक जिले में एक संत भ्रमण करेंगे तथा वहाँ बस्तियों में जाकर समरसता के भाव से जनमानस के बीच जाएँगे। इस आयोजन के मूल में समता, सहयोग, सादगी और समर्पण के भाव को लेकर अपनत्व और नैसर्गिक स्वरूप में वंचित वर्गों और पूज्य साधु-संतों का सद्भाव मिलन है। 

52 जिलों में समानांतर 52 यात्राओं का एक साथ होगा आयोजन

यह यात्रा दो खंडो में सम्पन्न होगी जिसमें प्रथम चरण प्रातः 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक रहेगा एवं द्वितीय चरण शाम 4 बजे से रात्रि 9 बजे तक रहेगा। जिसमें न्यूनतम 5 ग्रामों में सम्पर्क के बाद निर्धारित संवाद स्थल पर पहुँचेगी। संत-महात्माओं के ग्राम में पहुँचने पर क्षेत्र के लोगों द्वारा उनका स्वागत एवं अभिनंदन किया जाएगा। इसके बाद संतों द्वारा जनसामान्य के बीच जाकर भेंट व सत्संग होगा। फिर संत द्वारा आमजनों को रक्षासूत्र बंधन एवं तिलक किया जाएगा एवं यात्रा के अंतिम चरण में सहभोज के साथ यात्रा का समापन होगा और यह प्रक्रिया दोनों चरणों में 11 दिनों तक चलेगी।

एकात्म भाव के जागरण की दिशा में मील का पत्थर साबित होगी स्नेह यात्रा

मध्यप्रदेश में आयोजित हो रही यह स्नेह यात्रा अध्यात्म के प्रभाव के साथ-साथ समाजिक समरसता के लिए अनूठी पहल है। विश्व बंधुत्व के भाव के साथ प्रत्येक संत हर जिले में यात्राएँ करेंगे। इसके लिए देश के अलग-अलग स्थानों से संत गण पधार रहे हैं। यात्रा के दौरान समरसता को बढ़ाने वाली अनेक तरह की गतिविधियों का संचालन किया जाना है। यात्रा में महर्षि पतंजलि योग समिति, रामचंद्र मिशन, गायत्री परिवार सहित अन्य आध्यात्मिक संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित रहेंगे।

मुख्यमंत्री ने दी शुभकामनाएं

स्नेह यात्रा को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा कि स्नेह यात्रा के शुभारंभ के साथ ही सामाजिक समरसता के नए युग का सूत्रपात हो चुका है। मुझे पूर्ण विश्वास है कि यात्रा सामाजिक समरसता का संदेश देगी और एकात्म भाव के जागरण की दिशा में मील का पत्थर साबित होगी। आइये, इस पवित्र और अद्वितीय आध्यात्मिक यात्रा के सहभागी बनें तथा समरस व सद्भाव पूर्ण समाज के निर्माण में सहयोगी बनें।

वंदे भारत एक्सप्रेस पर पत्थर फेंकने वाले ने दी अजीब दलील, सुनकर चौंके अफसर

स्वतंत्रता दिवस पर CM शिवराज ने किए ये बड़े ऐलान

अचानक 150 फीट ऊंचे मोबाइल टावर पर चढ़ गया युवक, फिर जो किया उसने सबको कर दिया हैरान

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -