सर्दियों में कैसे रखें अपनी त्वचा का ख्याल

माना जाड़ों में हम सभी की स्किन शुष्क हो जाती है लेकिन बावजूद इसके त्वचा की केयर उसके टेक्सचर अनुरूप करनी होती है। आइए जानें विंटर्स में त्वचा की केयर, उसके अनुरूप।

1. सर्दियों में ड्राय स्किन- जहां एक तरफ सर्दियों के गुलाबी मौसम में हमें चिपचिपी गर्मी से निज़ात मिलती है वहीं दूसरी तरफ हमारी त्वचा में नमी की कमी हो जाती है। इसलिए चेहरे को धोते समय सीधे पानी का इस्तेमाल न करें। रूई के फाहे को दूध में डुबोकर चेहरा साफ करें और जब भी हाथ, पांव व चेहरा धोएं तो मॉयश्चराइजर जरूर लगाएं। रात को सोते समय गुलाब जल, ग्लिसरीन और नींबू के रस को बराबर मात्रा में मिला कर लगाएं। ज्यादा गंर्म पानी का इस्तेमाल करने की बजाय हल्के गुनगुने पानी का ही इस्तेमाल करना चाहिए।

2. ऑयली स्किन- ऑयली त्वचा के लिए चेहरे की साफ सफाई का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। इसके लिए दिन में कम से कम 4-5 बार एस्ट्रिजेंट या स्किन टोनर को रूई के फाहे में लेकर उससे चेहरा अच्छी तरह साफ करना चाहिए। इससे त्वचा का तैलीयपन कम होगा तथा ताज़गी का भी एहसास बना रहेगा। तैलीय त्वचा वालों को हफ्ते में कम से कम एक बार स्क्रब ज़रूर करना चाहिए। इससे आपके रोम छिद्र तो साफ होते ही हैं साथ ही कील मुंहासे आदि की भी समस्या नहीं रहती है।

3. नार्मल त्वचा- ऐसी त्वचा को खास केयर की जरूरत नहीं होती मगर बिल्कुल ध्यान न दिया जाए तो प्राब्लम्स हो सकती हैं। ज्यादा झाग वाले साबुन का नहीं बल्कि बेबी सोप अथवा फेस वॉश का इस्तेमाल करना चाहिए। चेहरा धोने के बाद मॉयश्चराइजर का इस्तेमाल कीजिए। रात में सोने से पहले नॉरिशमेंट क्रीम जरूर लगाएं। मास्क के तौर पर उंगलियों को गुनगुने पानी में भिगोएं और उनमें शहद लेकर पूरे चेहरे और गले पर भी फैलाएं। आंखों को बचा कर रखें। 5-10 मिनट रहने दें फिर गुनगुने पानी से धो दें। इससे त्वचा नर्म व चमकदार हो जाती है।

4. मिश्रित त्वचा- इस प्रकार की त्वचा की पहचान टी आकार के पैनल के आधार पर की जाती है। ऐसी स्किन पर माथे और चेहरे के बीच का भाग तैलीय होता है बाकी शेष भाग शुष्क होता है। इसकी देखभाल के लिए तैलीय भाग को एस्ट्रिंजेंट से साफ किया कीजिए। शुष्क भागों पर नमीयुक्त क्रीम लगाइए।

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -