रामभद्राचार्य ने घोषित की राममंदिर निर्माण की तारीख, भड़के अंसारी

Jan 30 2016 04:24 PM
रामभद्राचार्य ने घोषित की राममंदिर निर्माण की तारीख, भड़के अंसारी

लखनऊ : फैजाबाद में श्री रामचरित मानस में संशोधन को लेकर विवादों में रहे चित्रकूट के तुलसी पीठाधीश्वर और लोकप्रिय रामकथा वाचक जगद्गुरु रामभद्राचार्य द्वारा अयोध्या के विवादित धर्मस्थल श्री रामजन्मभूमि मंदिर निर्माण की निर्धारित तिथि की मंच से घोषणा की गई। इस तरह की घोषणा के बाद इस मामले में नया विवाद पैदा हो गया। उन्होंने कहा कि श्री राम मंदिर का कार्य वर्ष 2016 में शुरू हो जायेगा और 6 दिसंबर 2018 तक राम मंदिर निर्माण का कार्य पूरा हो जायेगा। श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास मंचासीन थे। 

मसौधा के महावा गांव में श्री रामकथा प्रवचन के अवसर पर श्री रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास की उपस्थिति में श्री राम मंदिर के निर्माण की तिथि घोषित की गई। इस तरह की घोषणा राम कथा वाचक श्री रामभद्राचार्य द्वारा की गई है। इस दौरान फैजाबाद में 9 दिवसीय श्री राम कथा का प्रवचन किया गया है। 

श्री राम भद्राचार्य द्वारा खुले मंच से बड़े पैमाने पर लोगों की उपस्थिति में अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण की घोषणा की गई। उनका कहना था कि कथा के दौरान अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण की बात प्रारंभ कर दी गई है। अयोध्या में श्री राम मंदिर का निर्माण करने की आवश्यकता है।

रामभद्राचार्य अयोध्या में मंदिर बनने की तारीख घोषित करने से बाबरी मस्जिद के मुख्य मुद्दई हाशिम अंसारी भड़क उठे, उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले अयोध्या के विवादित स्थान पर राम मंदिर बनाने की बात करने वाले  देश के कानून को पैरों तले कुचलने की साजिश रच रहे हैं वो चाहे जगदगुरु हों या डा. स्वामी। देश का मुसलमान यह सब बर्दाश्त नहीं करेगा। जो लोग कोर्ट के फैसले से पहले अयोध्या में मंदिर बनाने की बात कर रहे हैं वे देश के दुश्मन हैं। हाशिम ने कहा कि जिसे जो करना है करे, हम अदालत के फैसले का इंतजार करेंगे।