जेल में कैसे आई पिस्तौल, गैंगवार पर उठे सवाल

Apr 17 2015 04:25 PM
जेल में कैसे आई पिस्तौल, गैंगवार पर उठे सवाल
style="text-align: justify;">पंजाब / बठिंडा : बठिंडा की केंद्रीय जेल में गैंगवार की वारदात में सेखों गैंग के कैदी गुरदीप सिंह को गोली मारकर घायल कर दिया गया। दरअसल सेंट्रल जेल में गुरप्रीत सेखों के गुट में गैंगवार हो गई थी। जिसमें हमलावरों ने सेखों गैंग के कैदी गुूरदीप सिंह मान को गोली मार दी। दरअसल सेखों गैंग को सुक्खा काहलवां हत्याकांड का आरोपी माना जाता है जबकि कुलबीर नरूआना भी क्षेत्र का नामी गैंगस्टर है। सबसे बड़े आश्चर्य की बात यह कही जा रही है कि आखिर केंद्रीय जेल में हथियार आए कहां से। 

मिली जानकारी के अनुसार गैंगस्टर कुलबीर नरूआना और सेखों गैंग में आपसी विवाद हो गया। विवाद ने तूल पकड लिया। जिसके बाद नरूआना ने जेल में हथियार छिपाकर रखना प्ररंभ कर दिए। मौका पाकर उसने सेंखों गैंग के गुरदीप सिंह मान को गोली मार दी। गोली गुरदीप की जांघ में लगी इस दौरान आरोपी को बठिंडा अस्पताल से फरीदकोट रैफर कर दिया गया। दूसरी ओर सेखों गैंग ने नरूआना की बैरक में आग लगाकर अपना गुस्सा उतारा। 

वारदात को लेकर सबसे बड़ा सवाल यही उठाया जा रहा है कि आखिर कैदी एक दूसरे के संपर्क में आए कैसे और जेल में पिस्तौल किस तरह से पहुंची। मामले में पुलिसकर्मियों की भूमिका भी संदेह के घेरे में बताई जा रही है। हालांकि पुलिस को जेल से कोई हथियार बरामद नहीं हुआ। मामले को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों ने जांच के निर्देश दे दिए हैं। बताया जा रहा है कि नरूआना राजनीतिक रसूखदार है। उसके विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं से संबंध हैं।