जाट आरक्षण की आग में झुलसा हरियाणा, 4 की मौत, सेना तैनात

Feb 20 2016 09:31 AM
जाट आरक्षण की आग में झुलसा हरियाणा, 4 की मौत, सेना तैनात

चंडीगढ़ : हरियाणा में आरक्षण की मांग को लेकर चल रहा जाट आंदोलन ने अब हिंसक रूप ले लिया है. आंदोलन की वजह से मरने वालों की संख्या बढ़कर 4 हो गई है. रोहतक और भिवानी में कर्फ्यू लगा दिया गया है. कई शहरों में आगजनी की घटनाए हुई हैं. इसके चलते हरियाणा के 9 शहरों में सेना तैनात की गई है. जाट नेताओं ने सरकार की पेशकश को ठुकरा कर आंदोलन खत्म करने से मना कर दिया है. उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के आदेश दिए गए हैं. रोहतक, जींद, झज्जर, भिवानी, हिसार, कैथल, सोनीपत और पानीपत में सेना ने मोर्चा संभाल लिया है.

जाटों ने मुनक नहर का पानी रोक दिया. इससे सीधे तौर पर दिल्ली की सप्लाई प्रभावित होगी. आंदोलनकारियों ने रोहतक में हरियाणा सरकार के एक मंत्री के स्कूल और एक मॉल में आग लगा दी. झज्जर में SDM ऑफिस में भी तोड़फोड़ की गई. रोहतक में गन हाउस में हमला कर उपद्रवियों ने हथियार और गोलियां लूट ली.

रेलवे को करोडो का नुकसान

आंदोलन की वजह से हरियाणा से गुजरने वाली ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है. इससे रेलवे को रोजाना 2 सौ करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है. हरियाणा से गुजरने वालों सड़क मार्ग भी रोक दिए गए हैं . हरियाणा की हालत पर शुक्रवार शाम दिल्ली में अहम बैठक हुई. इसमें केंद्रीय गृह मंत्री, रक्षा मंत्री, विदेश मंत्री और वित्त मंत्री शामिल हुए. बैठक में हरियाणा की स्थिति और इससे कैसा निपटा जाए इस पर चर्चा हुई. इसके बाद सबने हरियाणा में शांति बनाए रखने की अपील की.

उग्र आंदोलन के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आर्थिक रूप से पिछड़े जाटों को आरक्षण देने का ऐलान किया था. उन्होंने प्रदर्शनकारियों से आंदोलन खत्म करने की अपील की. लेकिन उनकी एक नहीं सुनी गई है. 

हिंसक विरोध को रोकने के लिए पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर रोहतक बाइपास के पास फायरिंग की. फायरिंग में 1 प्रदर्शनकारी की मौत हो गई है जबकि 9 लोग घायल हो गए. इसके बाद अस्पताल में 2 अन्य लोगों की उपचार के दौरान मौत हो गई. इससे गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने DSP की गाड़ी फूंक दी.