प्रशांत की मुलायम भेंट से उठ रहे सवाल

लखनऊ : उत्तरप्रदेश की राजनीति में काफी हंगामा चल रहा है। सपा के अन्य दलों के साथ गठबंधन को लेकर चर्चाऐं की जा रही हैं। तो इस गठबंधन में कांग्रेस के शामिल होने की बात भी सामने आ रही है। चुनावी दौर में कुछ ग्राफिक्स में राज्य के मुख्यमंत्री को सपा की टोपी पहने हुए साइकिल चलाते दिखा गया है और उनके पीछे कैरियल पर सवार हैं कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी अर्थात कैरियल से वे कैरियर संवारने में लगे हैं।

दूसरी ओर कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री पद की दावेदार और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने महागठबंधन की संभावनाओं से इनकार नहीं किया। हालांकि शीला ने सवाल किया है कि कांग्रेस के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने सपा के नेता और राज्य के पूर्व मुखमंत्री मुलायम सिंह यादव से भेंट क्यों की। दरअसल राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव और प्रशांत किशोर एक नवंबर को एक दूसरे से मिले।

आखिर ये दोनों एक दूसरे से क्यों मिले इस पर सवाल है। मगर इस बारे में शीला दीक्षित ने कहा कि वे नहीं जानती कि दोनों के मिलने का कारण क्या है। प्रशांत किशोर वहां पर कांग्रेस के दूत के तौर पर गए थे या फिर किसी और वजह से यह तो उन्हें नहीं पता है और वे कुछ कहना नहीं चाहती हैं। शीला दीक्षित ने कहा कि प्रशांत किशोर पार्टी के चुनावी रणनीतिकार हैं उनका काम संतोषजनक है या नहीं इस बारे में तो पार्टी के सचिव ही बता सकेंगे।

हालांकि सपा के प्रमुख मुलायम सिंह यादव से प्रशांत किशोर की भेंट के दौरान अमर सिंह की मौजूदगी को बल मिला है। गौरतलब है कि जानकारी सामने आई है कि कांग्रेस उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में किसी दल के साथ गठबंधन करने पर जोर दे रही है। हालांकि अभी तक इस मामले में किसी तरह की स्पष्ट बात सामने नहीं आई है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -