मंदिर में फूल-प्रसाद बेचकर जीवनयापन कर रही है योगी की बहन, 27 सालो से है भाई का इंतजार

मंदिर में फूल-प्रसाद बेचकर जीवनयापन कर रही है योगी की बहन, 27 सालो से है भाई का इंतजार
Share:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को तो हम सभी जानते ही है. लेकिन क्या आप यह जानते है कि योगी की तीन बहने भी है. जिनमे से सबसे छोटी बहन शशि नीलकंठ मंदिर में प्रसाद और फूलों की माला बनाकर बेचने का काम करती है. हाँ यह सच जरूर है कि वे किसी को भी अपनी पहचान बताने से कतराती है और खुद को छुपकर रखती है. इसी राज को जानने के लिए जब ऋषिकेश से नीलकंठ का रुख किया गया और लोगों से इस बारे में जानकारी मांगी गई तो सभी ने इंकार कर दिया कि यहाँ योगी की कोई बहन नहीं है. आश्चर्य की बात तो यह है कि एक महिला जिसने इस बात से इंकार किया वह खुद ही सीएम की बहन निकली.

शशि ने इस बारे में फिर पूछने पर बताया कि वह नहीं चाहती कि किसी को पता चले की वो योगी आदित्यनाथ की छोटी बहन है. बता दे कि शशि अपने पति पूरण के साथ नीलकंठ मंदिर के पास पार्वती धाम में फूल प्रसाद माला की दुकान चलाती है. यहाँ वह एक झोंपड़ी में अपने परिवार के साथ रह रही है. दरअसल यहाँ रहने के पीछे यह वजह है कि कोई भी झोपडी में रहने वाली महिला के बारे में यह नहीं सोचता की वह सीएम की बहन है.

शशि ने बताया कि वर्ष 1992 में उनकी शादी गढ़वाल के रहने वाले पूरन से हुई थी और उनकी शादी के बाद ही योगी आदित्यनाथ उर्फ अजय बिष्ट घर छोड़कर चले गए. उनका कहना है कि योगी के सांसद बनने से लेकर अब तक उनकी भाई योगी से कोई बात नहीं हो पाई है. बचपन की यादो में खोते हुए बहन ने बताया कि परिवार में सबकुछ बहुत बेहतर चल रहा था. यहाँ तक कि 7 भाई-बहनों के साथ योगी भी पढ़ाई लिखाई और परिवार के कामों में बहुत समझदार थे.

शशि कहती है कि उन्होंने योगी को स्कूल से लाने और ले जाने का काम किया है. लेकिन अब भाई के सीएम बनने के बाद कई लोग पूछते है तो यह कहना पड़ता है कि वह उनकी बहन नहीं है. शशि अपने दुःख को व्यक्त करते हुए कहती है कि पिछले 27 सालों से वह भाई योगी और परिवार से नहीं मिल पाई हैं. बचपन की कुछ बातों को याद करते हुए शशि बताती है कि बचपन में रक्षाबंधन के त्यौहार के दिन वह अपने चारों भाइयों को सामने बैठाकर राखी बांधती थीं और उपहार के तौर पर योगी आदित्यनाथ हमेशा उनसे यही कहा करते थे कि अभी तो फिलहाल में कुछ नहीं कमा रहा हूं, लेकिन जब बड़ा हो जाऊंगा तो तुम्हें खूब सारे उपहार दूंगा.

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -